उत्तराखंड-भाजपा की प्रदेश पदाधिकारी बैठक में पीएम के 7 सूत्रीय मंत्र पर चर्चा,सीएम धामी ने कहा-हमें तुष्टिकरण नहीं तृप्तिकरन से आगे बढ़ना है

0
509

भाजपा की प्रदेश पदाधिकारी सांसदों एवं विधायकों की बैठक मे केंद्रीय कार्यकारिणी की हैदराबाद में हुई बैठक मे रखे गये बिन्दुओं और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सरकार के 100 दिनों के कार्यों पर चर्चा की गई। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि बैठक मे केंद्रीय कार्यकारिणी में लाए गये विन्दुओ पर चर्चा की गई और  उन्हें इकाई तक पहुचाने तथा धरातल पर क्रियान्वयन को लेकर चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा दिए गये 7 सूत्रीय मंत्र सेवा भाव, संतुलन,संयम,समन्वय,सकारात्मरकता,संवेदना और संवाद पर भी चर्चा की गई।

श्री कौशिक ने कहा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की जानकारियां आम कार्यकर्ताओं से साझा करने के लिए कहा गया है।बैठक के सूत्रों के माध्यम से कार्यकर्ताओं को जागृत कर इन सूत्रों को जनता तक पहुंचाने और सार्वजनिक जीवन में जीने का आग्रह करेंगे। भारतीय  जनता पार्टी का कार्यकर्ता मूलतःजनता से जुड़ा होता है और यह सातों सूत्र उसी जन सेवा के पर्याय है इनमें गरीब कल्याण जैसी विशेष व्यवस्था है ताकि अंतिम व्यक्ति का उत्थान हो इसके लिए प्रत्येक जनप्रतिनिधि 48 घंटे गांव में जाकर आम जनता के साथ बिताएगा और उनकी समस्याओं के समाधान के लिए प्रभावी पहल करेगा। उन्होंने कहा कि कार्यक्रमों के माध्यम से कार्यकर्ता आगे बढ़ेंगे और जनता से जुड़ाव रखेंगे तब ही जनता भी आप से जुड़ाव रखेगी। मदन कौशिक ने कहा कि हमारे प्रमुख कार्यकर्ता,पदाधिकारियों, जनप्रतिनिधियों को जनता तथा विभिन्न वर्गों से जुड़े क्षेत्रों में उनके विशेष दिवसों पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा कर उनके लिए कल्याण की विशेष चर्चा करनी चाहिए 

श्री कौशिक ने कहा कि राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रोपदी मुर्मू के उत्तराखंड दौरे में जनजाति मोर्चा के द्वारा किये गये भव्य स्वागत पर भी धन्यवाद अदा किया गया। बैठक को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि बैठक में सरकार के 100 दिन पर भी चर्चा हुई और विकास के रोडमैप पर भी बैठक मे आए जिलाध्यक्ष,सांसद,विधायकों के साथ विचार विमर्श किया गया। उन्होंने कहा कि विकास के अनेक मुद्दों और सामान नागरिक  सहिता जैसे मुद्दों पर चर्चा आम आदमी तक पहुंचे इस पर विमर्श किया गया।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में 2014 में सभी लोकसभा सीटों पर हमने विजय प्राप्त की 2019  व 2022 में भी यह क्रम जारी रहा। लगातार जनता का आशीर्वाद हमारे साथ रहा और हम सब जनता की भावनाओं को पूरा करने के लिए यथोचित प्रयास करें जिससे सभी वर्ग और समाज के लोग हम से जुड़ेंगे और भारतीय जनता पार्टी इस क्रम में आगे बढ़ती रहेगी। उन्होंने कहा कि हमारे समाज में सेवा-सुशासन व गरीब कल्याण को मंत्र रूप में पूरा करना है आगे आकर हमें कार्य करना है ताकि समाज का विकास हो “अंतोदय” हमारा मूल लक्ष्य है ऐसी योजनाओं को समाज के माध्यम से प्रत्येक वर्ग तक पहुंचा कर उनके कल्याण का प्रयास करना हमारा दायित्व है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी एक पटल पर आए और लगातार समाज कल्याण की चिंता करें ताकि समाज हमारे साथ मिलकर आगे बढ़े। उन्होंने कहा कि सत्ता का उद्देश्य समाज कल्याण होता है जो केवल भारतीय जनता पार्टी ही कर सकती है। इससे पहले कोंग्रेस जैसे दलों ने 70 वर्षों तक शासन में फूट डालो राज करो जैसे विषयों के माध्यम से समाज को को तोड़ने का काम किया है।लेकिन वास्तविक रूप में उनके लिए कुछ नहीं किया।जनता लोकतंत्र में भगवान होती है प्रभु पूजा की तरह ही हमें जन सेवा भी करनी है। हमें तुष्टिकरण की नीति को छोड़कर तृप्ति करण की ओर आगे बढ़ना है और जनता को हर व्यवस्था से संतृप्त करना है।

भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रदेश सह प्रभारी रेखा वर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि हमारा कार्यकर्ता समर्पित होता है, लेकिन समाज के साथ और समरस होकर समाज को समुन्नत बनाना हम सबकी जिम्मेदारी है हमारे लिए सत्ता सेवा का माध्यम है जनसेवा सर्वाधिक महत्वपूर्ण है, जनता लोकतंत्र में सर्वाधिक महत्वपूर्ण होती है ऐसे में हमें कोई शॉर्टकट ना अपनाकर जनसेवा की ओर चलना होगा।

इस मौक़े पर प्रदेश महामंत्री संगठन अजेय ने कहा कि कार्यकर्ताओं को सक्रिय रखने के लिए समग्र जानकारी देना आवश्यक है उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता संगठन का प्राण होता है उसे और अधिक महत्व मिलना चाहिए तथा संगठन की जानकारी होनी चाहिए ताकि संगठन के बारे में वह समय आने पर पूर्ण जानकारी दे सके।

श्री अजेय ने उत्तराखंड के प्रमुख पर्वों की भी चर्चा की और कहा कि हमें इन पर्वों से जुड़ना चाहिए। उन्होंने हरेला पर्व की चर्चा करते हुए कहा कि 6 जुलाई से 16 जुलाई तक हरेला पर्व पूरे प्रदेश में आयोजित किया जाएगा हमें इस आयोजन का हिस्सा बनना तथा समाज को इसमें जोड़ना जैसा महत्वपूर्ण कार्य करना है। इसी प्रकार प्लास्टिक मुक्त अभियान को भी संचालित करना है आज यह समय की मांग है।

मन की बात तथा अन्य कार्यक्रमों के बारे में महामंत्री (संगठन) ने कहा कि हम सबको इन कार्यक्रमों में समग्र रूप से जुड़ना चाहिए तथा इनको पूर्णता प्रदान करनी चाहिए उन्होंने कहा कि पिछड़े वर्ग अनुसूचित जनजाति क्षेत्रों को विशेष महत्व देना चाहिए राष्ट्रपति प्रत्याशी श्रीमती द्रोपति मुर्मू का उदाहरण देते हुए अजेय ने कहा कि श्रीमती मुर्मू अनुसूचित जनजाति से आती है लेकिन आज सर्वोच्च पद पर आसीन होने वाली महिला है। हमें सभी वर्गों, सभी समाज तथा समस्त लोगों को साथ लेकर चलना है।

उन्होंने 9 अगस्त से 15 अगस्त तक हर घर में तिरंगा फहराने के कार्यक्रमों को हर घर तक पहुंचाने का आग्रह किया उन्होंने कहा कि हमारे मंडल, शक्ति केंद्र तक सभी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता “आजादी के अमृत महोत्सव” को आम जनता तक पहुंचाएं तभी हमारी भारतीयता का सम्मान होगा और हम विश्व में श्रेष्ठ रूप से आगे बढ़ेंगे।