निरंजनी अखाड़ा के रमता पंचों ने जमात के साथ किया कुंभनगरी में प्रवेश मेलाधिकारी दीपक रावत ने किया अभिनन्दन

0
1705

महाकुंभ 2021 को लेकर कुंभनगरी हरिद्वार अब सजने लगी है। कुंभनगरी में नागा संन्यासियों का आगमन शुरू हो गया है। बुधवार को निरंजनी अखाड़ा के रमता पंचों ने जमात के साथ किया कुंभनगरी में प्रवेश किया। जिनका मेलाधिकारी दीपक रावत ने माल्यार्पण कर स्वागत व अभिनन्दन किया।

मेलाधिकारी दीपक रावत एवं अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह ने रमता पंचों के नगर प्रवेश शोभा यात्रा की अगुवाई कर रहे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहन्त नरेन्द्र गिरि, श्री निरंजनी पंचायती अखाड़ा के सचिव और मनसा देवी मन्दिर ट्स्ट के अध्यक्ष महन्त रविन्द्रपुरी सहित अन्य सन्तों का कॉलेज गेट पर माला पहनाकर अभिनन्दन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि एक तरह से आज मेले की शुरूआत हो गयी है और ऐसा एहसास भी साफ-साफ दिख रहा है, विश्वास करते हैं, बहुत ही सुन्दर, सुरक्षित, भव्य, दिव्य महाकुम्भ का मेला हरिद्वार में देखने को मिलेगा।

श्री दीपक रावत ने कहा कि कुम्भ मेला प्रशासन पूरी तरह से दिव्य एवं भव्य महाकुम्भ के आयोजन को पूरी तरह से तैयार है। साधु-सन्तों के आशीर्वाद से महाकुम्भ का आयोजन पूर्ण रूप से सफल एवं सुरक्षित होगा।अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहन्त नरेन्द्र गिरि ने इस अवसर पर कहा कि आज पंचायती आखाड़ा श्रीनिरंजनी का नगर प्रवेश हुआ है। नगर प्रवेश का मतलब यह है कि जो हमारे साधु-सन्त एवं महात्मा पूरे भारतवर्ष में सनातन धर्म का प्रचार करते रहते हैं, जब कुम्भ आता है, तो ये इकट्ठा होकर नगर प्रवेश करते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे आखाड़े का आज से महाकुम्भ मेले का शुभारम्भ हो गया है तथा तीन मार्च को यहां से हम लोग विधिवत पेशवाई शोभा यात्रा के माध्यम से पंचायती आखाड़ा श्रीनिरंजनी मेला छावनी में प्रवेश करेंगे। उन्होंने कहा कि हमारी परम्परा है कि जब नगर प्रवेश होता है, तो मेलाधिकारी आदि उपस्थित होकर सन्त-महात्माआंे का स्वागत कर परम्पराओं का निर्वहन करते हैं। हमारा सभी को आशीर्वाद।

श्रीपंचायती अखाड़ा निरंजनी के सचिव व मंसादेवी मन्दिर ट्स्ट के अध्यक्ष महन्त रविन्द्र पुरी ने कहा कि आज अखाड़े के रमता पंच शोभा यात्रा के रूप में अखाड़ा परिसर से तुलसी चैक देवपुरा होते हुये एस0एम0जे0एन0 काॅलेज में बने छावनी में पहुंचे हैं, वे यहां महाकुम्भ की शोभा को बढ़ायेंगे। इस अवसर पर श्रीमहन्त मनीष भारती, श्रीमहन्त राधेगिरि, श्रीमहन्त धर्मराज भारती, महन्त राम रत्न गिरि, महन्त रविपुरी, कारोबारी बलवीर पुरी, अनिल शर्मा सहित श्रद्धालुगण उपस्थित थे।