रायवाला अंडर पास बनेगा मील का पत्थर,बुधवार से शुरू हुआ कार्य

0
1104
स्वरूप पुरी

हरिद्वार देहरादून ऋषिकेश राजमार्ग पर स्थित रेलवे अंडर पास का पहला चरण बुधवार से सफलता पूर्वक पूरा कर लिया गया है। रेलवे द्वारा पहले मेगा ब्लॉक की अनुमति मिलने के बाद उप्र राज्य सेतु निगम व नेशनल हाइवे अथॉरिटी ने रेलवे अधिकारियों की निगरानी में बुधवार सुबह आठ बजे इस कार्य की शुरुआत की। जल्द ही तीन अन्य मेगा ब्लॉक की अनुमति मांगी गई है। इस कार्य को लेकर बुधवार को दिन भर हरिद्वार व देहरादून-ऋषिकेश के बीच रेलवे संचालन बंद रहा। उप्र राज्य सेतु निगम के अधिकारियों ने कड़ी मशक्कत के बाद देर शाम तक कार्य कर इस अंडर पास पर रेलवे ट्रैक बिछा दिया,वहीं देर शाम इस ट्रैक पर ट्रेनों का संचालन भी शुरू कर दिया गया

हरिद्वार देहरादून के सफर में जाम से मिलेगी निजात

हरिद्वार को राज्य का प्रवेश द्वार भी माना जाता है। दिल्ली व पश्चिमी उत्तर प्रदेश से अधिकतर यात्री इसी मार्ग का उपयोग कर तीर्थाटन व पर्यटन को पंहुचते है। जिसके चलते सबसे ज्यादा दिक्कतें चारधाम यात्रा में देखने को मिलता थी। गंगोत्री,यमनोत्री,केदारनाथ व बद्रीनाथ के साथ ही गढ़वाल क्षेत्र के अन्य पर्यटक स्थलों में जाने के लिए,यात्रियों व श्रधालुओं को जाम से जूझना पड़ता था। ऐसे में कई लोगो को जाम के कारण अपना शेड्यूल भी बदलना पड़ता था। सबसे ज्यादा दिक्कत मरीजों को उठानी पड़ती थी। मगर अब इस समस्या का निपटारा हो गया है। इस राजमार्ग पर स्थित फ्लाई ओवर्स व इस अंडर पास के बन जाने से राज्य व स्थानीय लोगों बड़ी राहत मिलेगी। साथ ही हरिद्वार-देहरादून के सफर में जाम से भी निजात मिलेगा।

चुनतीपूर्ण था इस मार्ग पर कार्य करना

उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम के चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर सतीश कुमार बताते हैं कि इस मार्ग पर कार्य करना बहुत चुनौतिपूर्ण था। लेकिन उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम व नेशनल हाइवे अथॉरिटी ने दो वर्ष के दौरान इस कार्य को पूरा कर दिया। यहां स्थित तीन फ्लाई ओवर्स वन्यजीव जीव कोरिडोर्स पर निर्मित किये गए है। जाम व वन्यजीवों की चहलकदमी के बीच बुधवार को ये फ्लाई ओवर्स व अंडर पास राज्य के विकास में अहम भूमिका निभाएंगे।

प्रोजेक्ट हेड, नेशनल हाइवे अथॉरिटी वैभव मित्तल बताते है कि इस मार्ग पर अधिकतर कार्य पूरा कर लिया गया है। यह अंडर पास भी अगले माह के पहले हफ्ते में पूरा कर लिया जाएगा। आने वाले वक्त में राज्य के विकास व स्थानीय लोगों के साथ ही जाम न होने से चारधाम यात्रा और सुगम हो जाएगी। रेलवे गार्डर को बदलने का कार्य कठिन चुनौती जरूर था। लेकिन इसे हमारे सभी अधिकारियों और कर्मचारियों ने सफलतापूर्वक कर लिया गया है। जल्द ही यह अंडर पास जनता के लिए खोल दिया जाएगा।