‘मोहन काला फाउंडेशन’ की बड़ी पहल,श्रीनगर विधानसभा के ग्रामीणों को कोरोना से लड़ने के लिए निरंतर प्रदान कर रहे है जीवन रक्षक सामान एवं खाद्य सामाग्री

0
875

आज कोरोना संक्रमण के मामले अब धीरे-धीरे गांवों में भी पैर पसारने लगे है। उत्तराखंड में कई गांव को कोरोना के चलते प्रशासन ने सील कर दिया है। कोरोना वायरस के चलते देश-प्रदेश में लॉकडाउन लगा है। सरकारों की कोशिश हैं कि किसी तरह कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को रोका जा सके। कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के चलते रोज कमा कर खाने वाले लोगों के सामने अब अपने परिवार का पालन-पोषण करने का संकट पैदा हो गया है। ऐसे में सरकार के साथ कई सामाजिक संगठन इस कोरोना के दौर में मदद के लिए आगे है।

इस क्रम में प्रथम पंक्ति में खड़ी है मोहन काला फाउंडेशन जो समाजसेवी एवं उक्रांद के केंद्रीय कोषाध्यक्ष एवं पौड़ी गढ़वाल लोकसभा प्रभारी मोहन काला के सानिद्धय में श्रीनगर विधानसभा के दूरगामी क्षेत्रों के ग्रामीणों तक इस कोरोनाकाल में लगातार किसी न किसी तरह से मदद पहुंचा रहे है। कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए मोहन काला फाउंडेशन श्रीनगर विधानसभा में निरंतर इन ग्रामीणों तक दवाइयां,मास्क, सैनिटाइजर,ऑक्सिमिटर,थर्मामीट और जरूरी स्वास्थ्य जन उपकरण पहुंचा रही है। इसी के साथ मोहन काला फाउंडेशन के तत्वावधान में कोरोना संक्रमण के इस दौर में श्रीनगर विधानसभा के गरीब एवं जरूरतमंद ग्रामीणों के लिए पुलिस-प्रशासन और आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से खाद्य सामाग्री एवं जीवन उपयोगी सामग्री प्रदान की गई है।

आपको बता दें कि कोरोना महामारी के दौर में हमेशा की तरह मोहन काला फाउंडेशन ने अपना हाथ पहाड़ के इन दूर-दराज के क्षेत्रों में रह रहे ग्रामिणों की मदद के लिए बढ़ाए है। जिसके तहत समाज सेवी मोहन काला अपने स्वयमसेवकों के माध्यम से श्रीनगर विधानसभा एवं इसके आस-पास के गांव और बाजारों में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लोगों निरंतर जन स्वास्थ्य सामाग्री प्रदान कर रहे है। इसी के साथ कई जरूरतमंद और निर्धन परिवारों तक निःशुल्क राशन पहुंचाया जा रहा है। इससे पहले भी मोहन काला फाउंडेशन के कार्यकर्ता श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के दूरस्थ गांव तक मास्क और राशन पहुंचा चुके है।

समाजसेवी एवं उक्रांद के केंद्रीय कोषाध्यक्ष एवं पौड़ी गढ़वाल लोकसभा प्रभारी मोहन काला ने अपने संदेश में कहां कि इस समय हमारे सामने सबसे बड़ी प्राथमिकता हैं कि हम ग्रामिणों तक मास्क, सैनिटाइजर,ऑक्सिमिटर,थर्मामीट के साथ-साथ जरूरी स्वास्थ्य सामाग्री पहुंचाएं ताकि वह संक्रमण से बच सकें। इसी के साथ आज पहाड़ पर कई गांव ऐसे है। जहां बहुंत गरीब लोग निवास करते है,उनके पास जो राशन था वह लॉकडाउन होने के कारण खत्म हो चुका है। लॉकडाउन के चलते यह ग्रामीण  बजारा तक नहीं पहुंच पा रहे हैं,क्योंकि परिवहन व्यवस्था बंद है। इस लिए हमने इन दूरस्थ गांव तक अपने कार्यकर्ताओं को भेजा है। जो कई किलोमीटर पैदल चल कर इन गांव तक पहुंच रहे और जरूरतमंद लोगों को खाद्य सामग्री प्रदान कर रहे है।

आपको बता दें कि इससे पहले भी मोहन काला, मोहन काला फाउंडेशन के तत्ववाधान में कई विपदाओं में उत्तराखंड के जनमानस को सहयोग कर चुके है। मोहन काला जी का एक ही संकल्प हैं कि किसी भी तरह कोरोना महामारी से पहाड़ को बचाना है। इस लिए वह कहते हैं कि कोरोना महामारी जंग हारेगी, जितेगा मेरा उत्तराखंड और हर उत्तराखंडी,श्री काला ने आशा कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त करते हुए कहां हैं कि मुझे आपको बताते हुए खुशी हो रही हैं कि आप सभी बहनों को मोहन काला फाउंडेशन की तरफ से कोरोना वायरस महामारी से बचने और लड़ने के लिए एक किट भेज रहा हूँ। जिस में आप लोगों तथा गांव के लिए कौटन हैंड गलप्श,फ़ेस शील्ड, मास्क,दवाई तथा सैनिटाइजर जैसी जरुरी समाना का समावेश है। मेरा आप सभी बहनों से अनुरोध है कि आप अपना ध्यान रखें तथा इस कार्य में सहयोगी बने। निश्चित तौर पर मोहन काला फाउंडेशन की यह मुहिन उत्तराखंड खास तौर पर श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र ते दूरगामी क्षेत्रों में रह रहे लोगों के लिए संजीवनी  का काम कर रही है।