संसद के कामकाज,लोकतांत्रिक सिद्धांतों एवं भावनाओं से परिचित कराने देहादून पहुंच रहे है,लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला

0
1121
फाइल फोटो

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में 8 जनवरी यानि शुक्रवार को पंचायती राज संस्थाओं का परिचय कार्यक्रम आयोजित किया जा रहे है। जिसमें पंचायत सदस्यों को संसद के कामकाज, लोकतांत्रिक सिद्धांतों एवं भावनाओं से परिचित कराने के लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला पहुंच रहे है।

इस कार्यक्रम का उद्देश्य पंचायत सदस्यों को संसद के कार्यकरण और लोकतांत्रिक सिद्धांतों एवं भावनाओं से परिचित कराना है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की पहल पर और पंचायत सदस्यों को संसद के कार्यकरण और लोकतांत्रिक सिद्धांतों एवं भावनाओं से परिचित कराने  के उद्देश्य से देश की पंचायती राज संस्थाओं के लिए देहारादून में एक परिचय कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम उद्घाटन के मौके पर लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला के साथ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, उत्तराखंड विधान सभा के अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल और अन्य कई गण्यमान्य व्यक्ति भी मौजू रहेंगे।

कार्यक्रम का विषय “पंचायती राज व्यवस्था” ” विकेंद्रीकृत लोकतंत्र का सशक्तीकरण” है। जिसमें उत्तराखंड के 26 जिला पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष, 109 क्षेत्र पंचायत प्रमुख तथा 270 मनोनीत ग्राम प्रधानों सहित लगभग 405 पंचायत प्रतिनिधिगण कार्यक्रम में व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होंगे। इसके अतिरिक्त, 376 जिला पंचायत सदस्य, 3201 क्षेत्र पंचायत सदस्य एवं 7791 ग्राम प्रधान भी वेबलिंक के माध्यम से कार्यक्रम से ऑनलाइन जुड़ेंगे । 

कार्यक्रम के मुख्य उद्देश्य व्यापक जागरुकता/व्यापक भागीदारी का सृजन करना, जमीनी स्तर के नेतृत्व में आत्मविश्वास/आत्मसम्मान की भावना विकसित करना, सृजित की गई परिसम्पत्तियों के स्वामित्व की भावना पैदा करना, जमीनी स्तर के राजनैतिक नेतृत्व को लोकतांत्रिक मूल्यों के बारे में जानकारी देना, विभिन्न योजनाओं  और डोरस्टेप डिलीवरी के बारे में जागरुकता पैदा करना,विकास संबंधी कार्य हेतु अवसरों और एक नेटवर्क विकसित करने के अवसर और जमीनी स्तर के नेतृत्व की आकांक्षाओं को बढ़ाना है। संसदीय लोकतंत्र शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान (प्राइड), लोक सभा सचिवालय द्वारा इस कार्यक्रम का आयोजन उत्तराखंड सरकार के सहयोग से उत्तराखंड राज्य की पंचायती राज संस्थाओं के लिए किया जा रहा है।