उत्तराखंड क्रांति दल के कार्यकर्ताओं ने थलीसैंण ब्लॉक के पीपलकोट,रिक्साल और थान में किया जनसंपर्क

0
833

उत्तराखंड क्रांति दल के कार्यकर्ताओं द्वारा राज्य हित में जन-जन तक दल की रीति-नीतियों को पहुंचाने और बूथ स्तर की कार्यकारिणी गठन करने के गुरूवार को थलीसैंण ब्लॉक में तीन बैठकों का आयोजन किया गया। थलीसैंण ब्लॉक संगठन मंत्री दिनेश रावत के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने पीपलकोट, रिक्साल और थान में ग्रामीणों से जनसंपर्क किया।  

उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश के बीच उत्तराखंड क्रांति दल के कार्यकर्ता उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय कोषाध्यक्ष एवं पौड़ी गढ़वाल लोकसभा प्रभारी मोहन काला के सानिद्ध में लगातार श्रीनगर विधानसभा के दूरगामी क्षेत्रों में ग्रामीणों से जनसंपर्क कर रहे है। इस क्रम में गुरूवार को यूकेडी के कार्यकर्ता पीपलकोट गांव पहुंचे जहां ग्रामीणों ने मोहन काला के समर्थकों का गांव के पंचायत घर में भव्य स्वागत किया।

इस जनसंपर्क अभियान के तहत पीपलकोट में बैठक में यूकेडी के क्षेत्र अध्यक्ष भंडारी जी, थलीसैंण ब्लॉक संगठन मंत्री दिनेश रावत, सुंदर गांव के कलम सिंह, हयात सिंह,दर्शन सिंह,यूकेडी के सक्रिय कार्यकर्ता और महिला मंगल दल अध्यक्षा पीपलकोट श्रीमती सरस्वती देवी सहित मातृशक्ति मौजूद रहे। बैठक में देवेन्द्र सिंह को सर्वसम्मति से बूथ अध्यक्ष, श्रीमती सरस्वती देवी को कोषाध्यक्ष,सोनू संगेला को प्रचारक और श्रीमती जसी देवी को मध्य चौथान महिला प्रकोष्ठ अध्यक्षा के रूप में चयनित किया गया।

पीपलकोट में बैठक के बाद कार्यकर्ताओं ने रिक्साल गांव के पवित्र पांडु खलि में रिक्साल पोलिंग बूथ कार्यकारिणी की बैठक एवं गठन किया गया। बैठक में न्याय पंचायत बूंगीधार के मीडिया प्रभारी जगदीश रावत मौजूद रहे। बैठक में रिक्साल गांव की मातृशक्ति भी उपस्थित थी। रिक्साल बूथ कार्यकारिणी में सर्वसम्मति से भवान सिंह मनाई को अध्यक्ष,धन सिंह को संगठन मंत्री,गोविन्द राम को कोषाध्यक्ष और गबर सिंह नेगी को सचिव पद के लिए चयनित किया गया।

गुरूवार को किए गए जनसंपर्क के समापन बैठक पर सभी नव चयनित पदाधिकारियों को थलीसैंण ब्लॉक संगठन मंत्री दिनेश रावत  द्वारा नियुक्ति पत्र वितरित किए गए और श्री भण्डारी ने बधाई और उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी और उपस्थित लोगों का आभार व्यक्त किया। श्री भण्डारी इस अवसर पर बताया कि क्षेत्र में मोहन काला जी की लोकप्रियता चरम पर है। लोगों का एक मत हैं कि उन्हें इस बार ऐसा चेहरा चाहिए। जो उनके बीच रहकर क्षेत्र के विकास,रोजगार और पलायन जैसे समस्याओं को लेकर काम करें।