Silkyara Tunnel Collapse:-ऑगर ड्रिलिंग मशीन पहुंची साइट पर,सुरंग में फंसे मजदूरों को निकालने के लिए राहत-बचाव कार्य युद्ध स्तर पर जारी

0
491

उत्तरकाशी के सिल्क्यारा में निर्माणाधीन सुरंग में फंसे मजदूरों को जल्द से जल्द निकालने के लिए युद्ध स्तर पर राहत और बचाव कार्य जारी है। इस बीच सुरंग के पास ऑगर ड्रिलिंग मशीन पहुंच गई है। जिसके बाद माना जा रहा हैं कि मजदूरों को सुरक्षित निकाल लिया जाएगा। सबसे महत्वपूर्ण खबर यह हैं कि एनएचआईडीसीएल के अनुसार कहा गया हैं कि निर्माणाधीन सिल्क्यारा सुरंग के अंदर फंसे सभी मजदूरों सुरक्षित है। सुरंग में फंसे मजदूरों तक पाइपों के माध्यम से हवा,ऑक्सीजन,पानी,बिजली और भोजन के छोटे-छोटे पैकेट की आपूर्ति की जा रही है। इसी के साथ वॉकी टॉकी के माध्यम से संदेश भी पहुंच रहे है।

उत्तरकाशी के सिल्क्यारा में निर्माणाधीन सुरंग के अंदर फंसे मजदूरों को जल्द से जल्द निकालने के लिए केंद्र और उत्तराखंड सरकरा हर संभव प्रयास कर रही है। केंद्र और राज्य सरकार की सभी संबंधित एजेंसियां,राज्य प्रशासन,राज्‍य आपदा मोचन बल,राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल,सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय तथा अन्य विभाग समन्वित प्रयासों से फंसे हुए लोगों को निकालने के हर संभव प्रयास कर रहे हैं।
सिलक्यारा सुरंग के भू धंसाव से अवरुद्ध हिस्से में बड़े व्यास के एमएस पाइप डालकर फंसे मजदूरों को निकालने के लिए क्षैतिज ड्रिलिंग हेतु ऑगर मशीन के लिए प्लेटफार्म तैयार किया जा रहा है। 900 एमएम व्यास के पाइपों से लदे ट्रक मध्यरात्रि से ही सिलक्यारा पहुंचना शुरू हो गए हैं। इन 900 मिमी व्यास के पाइपों के साइट पर पहुंचने से सुरंग में फंसे मजदूरों के जल्द से जल्द सुरक्षित बाहर निकलने उम्मीदें बढ़ गई है।
सिलक्यारा पहुंची ऑगर मशीन के लिए प्लेटफार्म तैयार कर लिया गया है। साथ ही ड्रिलिंग मशीन की स्थापना का कार्य प्रगति पर है। सूत्रों के अनुसार अभी तक लगभग 21 मीटर हिस्से में गंदगी हटाई दी गई है और खुले क्षेत्र में शॉटक्रेटिंग की जा रही है। बचाव एजेंसियों और ठेकेदार के साथ विस्तृत चर्चा के बाद यह निर्णय लिया गया है कि सुरक्षित मार्ग बनाने के लिए प्लेटफार्म (एम.एस.पाइप डालकर) बनाया जाएगा। एनएचआईडीसीएल के अनुसार,फंसे हुए सभी मजदूर सुरक्षित हैं और उनसे संपर्क किया जा रहा है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से फोन के माध्यम से उत्तरकाशी के सिल्क्यारा के पास टनल में फँसे श्रमिकों के बारे में जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने राहत और बचाव कार्यों की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि विभिन्न राज्य और केंद्रीय एजेंसियां परस्पर समन्वय और तत्परता के साथ राहत और बचाव कार्य में जुटी हैं।

मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्होंने स्वयं मौके पर जाकर स्थलीय निरीक्षण किया और बचाव कार्यों पर लगातार नजर रखें हैं। बचाव कार्य के लिए बड़े व्यास के ह्यूम पाइप हरिद्वार और देहरादून से भेजे जाने की व्यवस्था कर दी गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सुरंग के अंदर फंसे सभी मजदूर सुरक्षित हैं और उन्हें जल्द बाहर निकलने की पूरी कोशिश की जा रही है।
अब तक प्रधानमंत्री दो बार मुख्यमंत्री से स्थिति की जानकारी ले चुके हैं। केंद्रीय गृह मंत्री और रेल मंत्री भी सीएम धामी से बात कर चुके हैं। केंद्रीय एजेंसियां और एक्सपर्ट मौके पर मौजूद हैं।

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेशवासियों,विशेषकर बच्चों को बाल दिवस की शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू को श्रद्धांजलि अर्पित की। सीएम ने बाल दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हमारे नौनिहाल जीवन में जिस भी क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं,उस दिशा में पूरे मनोयोग से काम करें, परिश्रम करने वालों को सफलता अवश्य मिलती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं और देश के बेहतर भविष्य के लिए बच्चों को अच्छी शिक्षा और संस्कार देना हम सबकी जिम्मेदारी है।