उत्तराखंड की सल्ट विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी के महेश जीना,कांग्रेस की गंगा पंचोली और उक्रांद के मोहन उपाध्याय के बीच होगी टक्कर

0
1237

उत्तराखंड की सल्ट विधानसभा उपचुनाव के लिए आखिरकार बीजेपी ने होली के अवसर पर प्रत्याशी की घोषणा कर दी। बीजेपी ने सल्ट से अपने पूर्व विधायक स्वर्गीय सुरेंद्र सिंह जीना के बड़े भाई महेश जीना को सल्ट विधानसभा के लिए उम्मीदवार घोषित किया है। इसी के साथ कांग्रेस ने गंगा पंचोली को उम्मीदवार बनाया। सल्ट विधानसभा उपचुनाव में अब बीजेपी के महेश जीना,कांग्रेस की गंगा पंचोली और उक्रांद के मोहन उपाध्याय की बीच टक्कर होगी।

सल्ट विधानसभा सीट के लिए 17 अप्रैल को उपचुनाव होना है। नामांकन की अंतिम तिथि 30 मार्च है। सल्ट उपचुनाव को 2022 विधानसभा का लिटमस टेस्ट तौर पर भी देखा जा रहा है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के कार्यकाल के यह पहला उपचुनाव है। इस लिए भी यह उनके लिए महत्वपूर्ण चुनाव होगा। वैसे यह पहले से तय माना जा रहा था कि बीजेपी इस सीट से महेश जीना को अपना प्रत्याशी घोषित कर सकती है।

तमाम चर्चाओं और केंद्रीय नेतृत्व से हरी झंडी मिलने के बाद बीजेपी ने स्वर्गीय सुरेंद्र सिंह जीना के बड़े भाई महेश जीना को अपना प्रत्याशी घोषित किया। इसके कुछ देर बाद कांग्रेस ने 2017 में स्वर्गीय जीना से विधानसभा चुनाव लड़ी और करीब तीन हजार मतों से पराजित रहीं गंगा पंचोली को अपना प्रत्याशी घोषित किया। जबकि उत्तराखंड क्रांति दल (उक्रांद) ने सल्ट विधानसभा उपचुनाव के लिए मोहन उपाध्याय को प्रत्याशी घोषित किया है।

सल्ट सीट पर हो रहे उपचुनाव का परिणाम जो भी हैं। लेकिन इस सीट का परिणाम नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के लिए पहली अग्नि परीक्षा होगा और 2022 में उत्तराखंड में होने वाले विधानसभा  चुनाव के लिए भाजपा-कांग्रेस के साथ ही उक्रांद के लिए भी जनता में अपनी शक्ति को भांपने का एक माध्यम होगा। सल्ट विधानसभा के मतदाता  ग्लव्स पहनकर वोटिंग करेंगे। ऐसा पहली बार होगा कि चुनाव में मतदाताओं को वोटिंग और रजिस्टर पर हस्ताक्षर करने से पहले हाथों में दस्ताने पहनने होंगे। निर्वाचन आयोग ने यह प्रावधान कोविड-19 महामारी के संक्रमण से रोकथाम करने के उद्देश्य से किया है।