कांग्रेस पार्टी हमेशा से लोकतांत्रिक मूल्यों का हनन करती है-जयपाल सिंह चौहान

0
1162

भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान ने कहा की कांग्रेस पार्टी के नेता हमेशा से लोकतांत्रिक मूल्यों का हनन करती रही है भारत में 25 जून 1975 को आपातकाल के रूप में लोकतांत्रिक व्यवस्था पर जो हमला किया गया था। वह आज भी देशवासियों के जहन में है। तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने जिस तरीके से जनता के सभी मौलिक अधिकारों को निरस्त कर दिया लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर भी सेंसरशिप लगा दी गई और विपक्षी नेताओं को जेल में बंद कर दिया गया। उनको नजरबंद कर दिया गया। इससे काला अध्याय देश के इतिहास में कभी हो नहीं सकता।

डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान ने कहा कि उस समय देश में सभी लोकतंत्र समर्थकों की आवाजों को दबाकर देश में खुल्लम खुल्ला तानाशाही चलाई गई। यह सारा कृत्य कांग्रेस की कथनी और करनी को परिभाषित करता है। देश आज भी उन काले दिनों को याद करता है। जब देश के लोकतांत्रिक ढांचे को नेस्तनाबूद किया गया। कांग्रेस आज भी अपने द्वारा किए गए उस कृत्य के लिए खेद तक नहीं जताती। उस समय देश की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश की अर्थव्यवस्था को पूरी तरह नष्ट कर दिया। गरीबी हटाओ नारे को मजाक बनाकर रख दिया। सारी शक्तियां केंद्र सरकार ने अपने हाथों में निहित कर ली थी।

संविधान में निरंकुश तरीके से संशोधन किया गया था जो 42 वे  संशोधन के रूप में देश के सामने आया ऐसे देश और संविधान विरोधी कृत्य करने वाली पार्टी को और उनके नेताओं को देश से माफी मांगनी चाहिए। इसी श्रृंखला में आज कांग्रेस पार्टी के द्वारा जो हर की पौड़ी पर उपवास का कार्यक्रम आयोजित किया गया है और ऐसे दिन आयोजित किया गया है। जब देश में आपातकाल थोपा गया था। कांग्रेस को काले दिन के लिए उपवास करना चाहिए ताकि जिन लोगों के मौलिक अधिकारों का हनन हुआ था। उनके परिवार जनों को सांत्वना दी जा सके अतः भारतीय जनता पार्टी उनके उपवास के बाद उस कार्यक्रम स्थल पर जाएगी और उस कार्यक्रम स्थल की शुद्धि शाम 4 बजे गंगाजल छिड़क कर करेगी।