कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारियों के संबंध में जिलाधिकारी,स्वास्थ्य महानिदेशक सहित कई अधिकारियों के साथ की बैठक

0
736

कोरोना संक्रमण से बचाव एवं उपचार गतिविधियों के प्रभारी एवं प्रदेश के कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी द्वारा बुधवार को न्यू कैंट रोड स्थित अपने कैम्प कार्यालय में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक कर कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर (डेल्टा प्लस) से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की। बैठक में महानिदेशक स्वास्थ्य डा0 तृप्ति बहुगुणा, जिलाधिकारी डा0आशीष कुमार श्रीवास्तव,वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा0योगेन्द्र सिंह रावत,मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0उप्रेती तथा तीसरी लहर हेतु बाल चिकित्सा नोडल अधिकारी द्वारा प्रतिभाग किया गया। 

कैबिनेट मंत्री द्वारा डेल्टा प्लस में कोविड उपचार के प्रोटोकॉल के बारे में चाही गई जानकारी के जवाब में महानिदेशक स्वास्थ्य द्वारा अवगत कराया गया कि उपचार प्रोटोकॉल पूर्व की ही भांति रहेगा। उपचार भी लक्षण आधारित ही दिया जाना है। बच्चों हेतु पीने वाली दवाओं की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जा चुकी है। हमारा जोर अधिक से अधिक जांच कर जल्द से जल्द संक्रमण का पता लगाने पर है। ताकि संक्रमितों को तत्काल आईसोलेट कर संक्रमण के प्रसार को रोका जा सके। इसके अतिरिक्त राजकीय व निजी बाल रोग विशेषज्ञों का प्रशिक्षण संचालित किया जा रहा है। इसके उपरांत स्टॉफ नर्स, एएनएम तथा आशाओं को भी प्रशिक्षित किया जाएगा कि कैसे बाल रोगियों को कैसे हेंडल किया जाए, संक्रमण का पता लगाने हेतु जांच कैसे की जाए तथा आसोलेशन की क्या व्यवस्था होगी।

प्रभारी मंत्री द्वारा निर्देशित किया गया कि दूसरी लहर के अनुभवों से सबक लेते हुए उपचार को विकेन्द्रीकृत तौर पर उपलब्ध करवाए जाने की व्यवस्था की जाए। ताकि ‘‘जहां बीमार, वहीं उपचार’’ के तहत उच्च सेंटरों को गंभीर मरीजों हेतु उपलब्ध करवाया जा सके। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम प्रधानों, क्षेत्र पंचायत सदस्यों, जिला पंचायत सदस्यों व अन्य जनप्रतिनिधियों को भी जानकारियों से अपडेट रखते हुए रणनीति बनाने तथा लागू करने की प्रक्रिया में सम्मिलित रखा जाए।

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही अधिक से अधिक टीकाकरण कर बचाव की प्रक्रिया को भी तेज किया जाए। वैक्सीन की उपलब्धता के अनुसार रेहड़ी-पटरी वालों, फल सब्जी की रेहड़ी वालों को जिनके पास स्मार्ट फोन चलाने करने इत्यादि की दिक्कतें हों, उन्हें ऑन स्पॉट वैक्सीनेट किए जाने की व्यवस्था बनाई जाए। अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना के संबंध में अधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया कि मसूरी में आगामी 10 जुलाई से प्लांट संचालित हो जाएगा। कालसी और प्रेमनगर में अजीम प्रेमजी फाउण्डेशन के माध्यम से प्लांट स्थापित किए जाने की प्रक्रिया गतिमान है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित करते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा कि मसूरी के गनहिल स्थित सेंटमैरी हॉस्पिटल परिसर को नर्सिंग ट्रेनिंग सेंटर के तौर पर विकसित किए जाने की संभावनाओं को परखते हुए प्रस्ताव तैयार करें। इस अवसर पर भाजपा मसूरी मण्डल अध्यक्ष मोहन पेटवाल तथा श्रीदेव सुमन मण्डल अध्यक्ष पूनम नौटियाल भी उपस्थित रहे।