Uttarakhand:-रामनगर में सीएम धामी ने किय 10062.02 लाख की विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास

0
397

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को रामनगर में 5904.68 लाख लागत की 14  विकास योजनाओं का लोकार्पण तथा 4157.34 लाख लागत की 02 योजनाओं का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर रामनगर में कार्बेट पार्क स्वागत कक्ष को आमडंडा में शिफ्ट करने की घोषणा की साथ ही उन्होंने रामनगर में एनएच मार्ग के दोनो ओर विद्युत लाईन को भूमिगत करने तथा रामनगर में प्राइवेट बसों हेतु सिंचाई विभाग की भूमि पर बस स्टेंट बनाने की भी घोषणा की।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जिन योजनाओं का लोकार्पण किया उनमें रामनगर एवं बैलपडाव में वालपेंटिग एवं कल्चर पेंटिंग योजना हेतु कुल लागत 20.00 लाख,रामनगर के गांधीनगर मार्ग से ढैला बैराज व शमशानघाट तक मार्ग निर्माण लागत 94.23 लाख,रामनगर के आनन्दनगर पीपलपडाव मे जितेन्द्र के घर से चन्दन के घर तक निर्माण लागत 100.00 लाख।

गांधीनगर शिवपुरी पुरानी बस्ती में जूनियर हाईस्कूल से मोहन प्रसाद के घर तक मार्ग निर्माण लागत 109.34 लाख,चन्द्रनगर मालधन चौड से शमशानघाट तक मार्ग निर्माण कार्य लागत 220.03 लाख,मालधन चौड मे ओमपाल चौधरी के घर से मुख्य मार्ग तक निर्माण कार्य लागत 80.15 लाख,ग्राम पंचायत गौतम नगर में भूपालराम के घर से चन्द्रनगर मुख्य मार्ग तक निर्माण कार्य लागत 48.29 लाख,रामनगर-हल्द्वानी-काठगोदाम-सितारगंज बिजटी मोटर मार्ग सतह निर्माण लागत 643.75 लाख।

कालाढूगी के सरदार नगर-बाजपुर केशोवाला-बैलपडाव-कोटाबाग पुनःनिर्माण कार्य लागत 2063.03 लाख,तुमडियाडाम में द्वितीय 60 मीटर स्पान निर्माण हेतु कार्य लागत 653.72,रामनगर में रिंग रोड का पुनः निर्माण कार्य लागत 751.14 लाख,नैनीताल-कालाढूगी-बाजपुर मोटर मार्ग सतह निर्माण कार्य लागत 378.81 लाख,रामनगर-कालाढूगी के नयांगाव से ढिकुली तक विद्युत लाइनों का सुदृढीकरण एवं लाइन शिफ्टिंग कार्य लागत 459.33 लाख तथा रामनगर मे रिंगरोड हाथीडंगर से मालधन ढेला तक पुनःनिर्माण कार्य लागत 282.86 लाख की योजनायें शामिल हैं।
इसके साथ ही मुख्यमंत्री श्री धामी ने पुरानी तहसील में खाली पड़ी भूमि पर बहुमंजिला पार्किंग निर्माण लागत 1300.00 लाख एवं रामनगर में अन्तर्राज्जीय बस टर्मिनल का निर्माण कार्य लागत 2857.34 लाख की योजनाओं का शिलान्यास किया गया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में आठ सालो में एक लाख करोड़ की योजनाओं का कार्य धरातल पर अवतरित किया गया जो दशकों से रूकी हुई थी उन योजनाओं पर स्वीकृति प्रदान की गई है। हल्द्वानी में जमरानी बांध की परियोजना पर अंतिम स्वीकृति भारत सरकार से प्राप्त हो चुकी है, जल्द ही इस योजना पर कार्य प्रारम्भ होगा।

उन्होंने कहा उत्तराखण्ड का युवा एवं किसान विकास की मुख्यधारा की ओर अग्रसर हो रहे हैं,जिससे आने वाले वर्षो में उत्तराखण्ड देश का अग्रणी राज्य में शुमार होगा। उन्होंने कहा विकास के कार्यों वर्तमान में गतिमान में यह कार्य रामनगर शहर के साथ ही उसके आसपास के क्षेत्रों के लोगों लिए कारगर सिद्ध हांगे।
उन्होंने कहा हम नकल अधिनियम का कानून लेकर आये इस कानून के लागू होने से नकल करने व कराने वालों पर कठोर सजा दी जायेगी, नकल करने व कराने वाले इस सम्बन्ध में सोच भी नही सकते हैं। उन्होने कहा परीक्षाओं को समयबद्ध तरीके से संपन्न करायेंगे। उन्होंने कि कहा सरकार अप्रैल माह में चार बडी परीक्षायें आयोजित करने जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी परीक्षायें कैलेण्डर के अनुसार होगी। उन्होंने कहा हमारा लक्ष्य अन्त्योदय की सिद्वान्त पर कार्य करना है यानी कि समाज के अन्तिम छोर के व्यक्ति तक सरकार की योजनाओं का लाभ पहुचाना है। राज्य में पर्यटन एवं रोजगार को बढावा देने के लिए सरकार कार्य कर रही है हमारा बजट रोजगार परक है,हम सरलीकरण,समाधान एवं निस्तारण मंत्र पर कार्य कर रहे है। जिससे उत्तराखण्ड देश का अग्रणी राज्य बन सके।
कार्यक्रम में विधायक दीवान सिंह बिष्ट,विधायक सल्ट महेश जीना, विधायक रानीखेत प्रमोद नैनवाल,जिला पंचायत अध्यक्ष बेला तोलिया,जिलाध्यक्ष प्रताप बिष्ट,प्रमुख रेखा रावत,डॉ.अनिल कपूर डब्बू,राकेश नैनवाल,भुवन भट्ट,नवीन भट्ट,आदित्य कोठारी,राजेन्द्र बिष्ट,लाखन निगलटिया,इन्द्र रावत,भगीरथ चौधरी,चंदन बिष्ट,रवि कुरिया के साथ ही आयुक्त दीपक रावत,डीआईजी नीलेश आनन्द भरणे,जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल,एसएसपी पंकज भट्ट आदि मौजूद थे।