जोशीमठ में आठ सूत्री मांगों को लेकर मनरेगा कर्मी हड़ताल पर

0
1342
राकेश डोभाल

सीमान्तवर्ती क्षेत्र जोशीमठ के महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत मनरेगा कर्मियों ने अपनी विभिन्न 8 सूत्रीय मांगों को लेकर अनिश्चित कालीन हड़ताल जोशीमठ ब्लॉक परिसर में शुरू कर दी है। जिसकी सूचना मनरेगा कर्मियों द्वारा विकासखंड जोशीमठ के खंड विकास अधिकारी विक्रम लाल शाह के माध्यम से मुख्य विकास अधिकारी,अपर जिला कार्यक्रम समन्वयक चमोली एवं जिला अधिकारी जिला कार्यक्रम समन्वयक चमोली को प्रेषित कर दी गई है।

मनरेगा कर्मियों ने कहा कि मनरेगा कर्मचारी संगठन उत्तराखंड द्वारा मुख्यमंत्री उत्तराखंड को संबोधित पत्र दिनांक 1 मार्च 2021 संलग्न द्वारा अपनी विभिन्न लंबित मांगे पूरी करने का अनुरोध किया गया था। लेकिन मनरेगा कर्मियों की मांग पूरी न होने से नाराज मनरेगाकर्मियों ने दिनांक 16 मार्च 2021 से समस्त मनरेगा कर्मचारियों द्वारा प्रदेश स्तरीय अनिश्चितकालीन हड़ताल आंदोलन शुरू कर दिया है। बता दे कि जोशीमठ क्षेत्र में 58 ग्राम सभाऐं प्रभावित हुई  हैं।  जिनमे नितिघाटी समेत भारत वर्ष का अंतिम गांव माणा भी सामिल हैं। यंहा के अधिकतर  महिलाएं एवं पुरूष  खेती एवं रोजगार गांरटी में श्रमिक का कार्य करते हैं। अधिकांश ग्रामीणों का कहना है। कि उन्होने मनरेगा के तहत वर्ष 2020-21 का अपना 100 दिन का  कार्य पूरा कर दिया है। लेकिन  मनरेगा कर्मियों के हड़ताल पर चले जाने से उनके कार्य  का पूरा भुगतान नही हो पाया है।

जोशीमठ प्रमुख क्षेत्र पंचायत  हरीश परमार एवं प्रधान संघ अध्यक्ष अनूप सिंह नेगी विकासखंड जोशीमठ चमोली ने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा कर्मचारी संगठन उत्तराखंड द्वारा दिनांक 1 मार्च 2021 को दिया गया पत्र जो कि माननीय मुख्यमंत्री उत्तराखंड को संबोधित है ,के क्रम में मनरेगा कार्मिकों की जायज मांगों को पूरा करने हेतु प्रस्तावित दिनांक 15 दिन 2021 से हड़ताल /आंदोलन का प्रमुख क्षेत्र पंचायत एवं प्र अध्यक्ष प्रधान संघ जोशीमठ जनपद चमोली पूर्ण समर्थन करता है तथा शासन से अपेक्षा की जाती है कि मनरेगा कार्मिकों की न्यायोचित जायज मांगों पर सहानुभूति पूर्वक चिंतन करते हुए सकारात्मक कार्रवाई करें।