अयोध्या में राम मंदिर के लिए धन संग्रह अभियान की हरिद्वार से हुई शुरुआत,चंपत राय ने हर की पौड़ी पहुंच कर की मां गंगा की पूजा

0
1646

अयोध्या में श्री राम के दिव्य और भव्य मंदिर के निर्माण के लिए धन संग्रह अभियान तेज हो गया है। हरिद्वार में गंगा पूजन के साथ श्रीराम जन्मभूमि समर्पण निधि अभियान की शुरूआत हो गई। बुधवार को श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र न्यास के महामंत्री चंपत राय ने  हरिद्वार में हर की पौड़ी पर मां गंगा की पूजा कर इस अभियान की शुरूआत की।

बुधवार को श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र न्यास के महामंत्री चंपत राय ने हर की पौड़ी पहुंच कर मां गंगा का पूजन किया और राम मंदिर निर्माण के लिए समर्पण धन संग्रह अभियान की शुरुआत की गंगा पूजन के बाद चंपत राय ने हर की पौड़ी पर एक जनसभा को भी संबोधित किया। जिसमें विश्व हिंदू परिषद और संघ के कार्यकर्ताओं के साथ साधु संत भी मौजूद रहे।

इस मौके पर चंपत राय ने कहा कि मां गंगा के तट पर आज उन्होंने मां की पूजा करके मां का आशीर्वाद प्राप्त किया है।  उन्होंने कहा कि हमारे कार्यकर्ता समर्पण धन संग्रह के लिए लोगों के घर-घर जाएंगे और लोगों से मिलेंगे। भगवान श्री राम मंदिर के निर्माण में लोगों के समर्पण को ग्रहण करेंगे उन्होंने कहा कि यह इच्छिक समर्पण है,सभी लोगों को एक कूपन दिया जाएगा कूपन ₹10 ₹100 और ₹1000 का होगा यह अभियान 42 दिन तक चलेगा 14 जनवरी मकर सक्रांति के दिन से शुरू होकर 27 फरवरी तक चलने वाले इस अभियान के दौरान लाखों कार्यकर्ता प्रतिदिन अपने क्षेत्रों में घूमेंगे।

श्री चंपत राय ने कहां कि घर जाने का मतलब यह नहीं है कि राम मंदिर निर्माण में पैसा नहीं आ रहा है उन्होंने कहा कि सब लोग अयोध्या नहीं जा सकते हैं और घर जाने से व्यक्ति का आदर बढ़ता है इसके साथ ही यह भी पता लगता है कि कितने लोग भगवान श्री राम मंदिर निर्माण  में अपना समय देते हैं। हम ने कार्यकर्ताओं से कहा है कि वह समय का दान करें धन संग्रह करने की कोई बात नहीं है। 

इस मौके पर प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम के श्री महंत रूपेंद्र प्रकाश महाराज ने कहा कि अयोध्या में भगवान श्री राम जन्म भूमि में भव्य मंदिर बने यह करोड़ों हिंदुओं की इच्छा थी। जो अब पूरी होने जा रही है देश के करोड़ों हिंदू बहुत उत्साहित हैं। जिससे प्रतीत होता है कि अयोध्या में विश्व का सबसे दिव्य और सुंदर राम मंदिर बनने जा रहा है। इस मौके पर हजारों की संख्या में श्री राम भक्त और विश्व हिंदू परिषद एवं संघ के कार्यकर्ता भी मौजूद थे।