टिहरी गढ़वाल के दूरगामी गांव चकरेड़ा एवं नैलचमी में ‘रिवाज संस्था’ ने लगाया निःशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर

0
998

उत्तराखंड में धीरे-धीरे कोरोना संक्रमण के मामले कम होने लगे हैं। राज्य में रिकवरी रेट भी 95.36 फीसदी तक पहुंच गया है। ग्रामीण क्षेत्रों की बात करें तो ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना के मामले निरंतर घट रहे है। सरकार और गैर सरकारी संगठन अभी भी राज्य में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए निरंतर जागरूकता अभियान चला रहे है। जिसका सुखद परिणाम हैं कि पहाड़ से लेकर मैदान तक राज्य में कोरोना के मामलों में कमी आ रही है।

उत्तराखंड में लगातार कम हो रहे कोरोना संक्रमण के मामलों के लिए निश्चित तौर पर उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग और तामम सामाजिक संगठनों की महत्वपूर्ण भूमिका है। जो धरातल पर उतरकर रात-दिन कोरोना संक्रमण रोकने के लिए काम कर रहे है। इन सामाजिक संगठनों में प्रथम पंक्ति में खड़ी हैं,रिवाज़ संस्था जो रात-दिन कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए पहाड़ के दूरस्थ क्षेत्रों में काम कर रही है।

इस क्रम में रिवाज़ संस्था ने टिहरी गढ़वाल के चकरेड़ा एवं नैलचमी में ग्रामीणों के लिए निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर का आय़ोजन किया। जिसका शुंभारभ ग्राम पंचायत के मुखिया पुष्कर लाल,देवचंद एव रिवाज़ संस्था के कोआर्डिनेटर सत्य प्रकाश डौंडियाल एवं अन्य जन-प्रतिनधियों ने मिलकर किया। इस अवसर पर इस निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर में अंबेडकर ग्राम चकरेड़ा और नैलचमी के ग्रामीणों के स्वास्थ्य जांच की गई। इसी के साथ इन ग्रामीणों को मास्क,सैनिटाइजर और अन्य स्वास्थ्य सामग्री प्रदान की गई है।

आपको बता दें कि टिहरी गढ़वाल घनसाली विधानसभा क्षेत्र में अभी तक रिवाज संस्था टी एच डी सी के सहयोग से कई स्वास्थ्य शिविरों को आयोजन कर चुकी है। जिसमें हजारों दूरगामी क्षेत्रों के ग्रामीणों को मास्क,सैनिटाइजर और दवाइयां प्रदान की जा चुकी है। चकरेड़ा एवं नैलचमी में आयोजित निःशुल्क जांच शिविर के लिए ग्राम पंचायत प्रधान,क्षेत्र वासियों एवं जन-प्रतिनिधियों ने रिवाज़ संस्था एवं टीएचडीसी का आभार व्यक्त किया।

रिवाज़ संस्था के तत्ववाधान में आयोजित इस स्वास्थ्य शिविर में ग्रामीणों को दवाइयां,जिंक सल्फेट टैबलेट और इम्युनिटी बढ़ाने के लिए इम्युनिटी बूस्‍टर उपलब्ध कराया गया। इसी के साथ डॉक्टरों टीम द्वारा दाद-खाज-खुजली,सिर दर्द,बदन दर्द,पेट दर्द और अन्य सामान्य बीमारियों की इलाज हेतु निःशुल्क दवाइयां वितरित की गई है। इसी के साथ कोरोना महामारी से बचने के लिए सुझाव और जानकारियां दी गई है। इस दौरान घनसाली के सामाजिक कार्यकर्ता एवं रिवाज संस्था के जिला समन्वयक सत्यप्रकाश डौंडियाल,पुरुषोत्तम,महादेव,लाल देवचंद,मकान लाल, श्रीमती जैसी देवी एवं वीरा देवी,आंगनबाड़ी कार्यकत्री तथा चंद्रमा देवी लालचंद,कविता देवी, सरोजिनी आदि मौजूद रहे। जिन्होंने इस शिविर के संचालन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इसी के साथ डॉक्टरों की टीम में डॉक्टर पवन,विकास,कृष्ण चंद्र फार्मेसिस्ट आदि ने स्वास्थ्य शिविर में मौजूद रहे।
रिवाज़ संस्था द्वारा टिहरी गढ़वाल के दूरगामी गांव म्यार,रगड़ी,विमलेश,पीलवा,सीता कोट और सात  पट्टी के अलावा केमर पट्टी के पटर गांव,डूंगरी,बनसू गांव,बूढ़ा केदार,नात क्षेत्र के कोटी अगुंडा,धन साणी,छत्यारा,करण गांव में के ग्रामीमों के लिए निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। इसके अलावा चक्रेडा गांव ने नेलचमी क्षेत्र में कोई डांगी,छोरा,शिवपुरी आदि क्षेत्रों में रिवाज़ संस्था एवं टीएचडीसी के सहयोग,स्वास्थ्य कैंप का आयोजन किया गया है। जिसके लिए इस क्षेत्र के ग्रामीणों ने रिवाज़ संस्था एवं डॉक्टरों का आभार व्यक्त किया।

इस मौके पर श्री पुरुषोत्तम ने कहा कि इस समय इस क्षेत्र के ग्रामीणों के पास स्वास्थ्य सेवाएं उस तरह से उपलब्ध नहीं है। जैसी होने चाहिए। कई गरीब लोगों ऐसे हैं जो आर्थीक तंगी के कारण अपने इलाज के लिए डॉक्टर के पास नहीं जा पाते है। ऐसे में रिवाज़ संस्था इन दूरस्थ ग्रामीणों क्षेत्रों में लगातार निःशुल्क स्वास्थ्य पहुंचा रही है। यह हम सब के लिए सौभाग्य की बात है। इसके लिए हम संस्था के आभारी है। रिवाज़ संस्था की यह स्वास्थ्य सेवाएं इस समय इन गांव के ग्रामीण के लिए संजीवनी का काम कर रही है। इसके लिए ग्रामीणों ने संस्था का हृदय की गहराइयों से संस्था का आभार व्यक्त किया।

आपको बता दें कि टीएचडीसी के सहयोग से रिवाज़ संस्था ने पिछले दिनों इस क्षेत्र के दूरगामी गांव ढाब सौड,सेमल्थ,इत्यादि गांवो में स्वास्थ्य कैम्प लगाया गया था। जिस में लगभग 250 से ज्यादा लोगों की स्वास्थ्य जांच की गई थी। साथ ही इन्हें दवाइयां,मास्क,सैनिटाईजर एवं विटामिन-सी की दवाइयां प्रदान की गई। साथ ही कोविड-19 से बचाव के लिए सुझाव भी दिए।