Uttarakhand:-14 अगस्त को भाजपा व्यापक स्तर पर मनाएगी विभाजन विभीषिका दिवस,प्रदेश स्तर पर 3 सदस्यीय समिति गठित

0
408

भाजपा बंटवारे का दंश झेलने वाले देशवासियों को श्रद्धांजलि देने के लिए विभाजन विभीषिका दिवस को व्यापक स्वरूप में मनाने जा रहीं है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में 14 अगस्त को होने वाले इन कार्यक्रमों को प्रदेश में क्रियान्वयन के लिए 3 सदस्यीय प्रदेश समिति का गठन किया गया है।

  • यातना झेलने वालों की याद मे मौन जुलूस और ऑडिटोरियम फिल्म का होगा प्रकाशन

प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के निर्देशों पर प्रदेश महामंत्री राजेंद्र बिष्ट को इस समिति का संयोजक बनाया गया है। समिति में सह संयोजक के रूप में गोविंद पिलख्वाल व नलिन भट्ट के अतिरिक जिले स्तर पर भी इसी तरह की 3 सदस्यीय समिति इस कार्यक्रम को व्यापक बनाने के लिए शीघ्र ही गठित की जायेंगी।

 श्री चौहान ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन सभी लोगों को श्रद्धांजलि देते हुए उन सभी लोगों को याद किया है जिन्होनें विभाजन के दौरान अपनी जान गंवाई थी। उन्होंने हमारे इतिहास के उस दुःखद दौर के पीड़ित सभी लोगों की सहनशीलता और धैर्य की भी सहराहना की है। उन्होंने कहा कि पार्टी का मत है कि देश के बंटवारे के दर्द को कभी भुलाया नहीं जा सकता। यही वजह है कि पार्टी ने बंटवारे में विस्थापित होने वाले एवं अपनी जान गंवाने वाले हमारे लाखों भाईयों और बहनों के संघर्ष और बलिदान की याद में 14 अगस्त को ‘विभाजन विभिषिका स्मृति दिवस के तौर पर मनाने का फैसला किया है।

श्री चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि पार्टी नेतृत्व के निर्देशानुशार इस दौरान महत्वपूर्ण बिंदुओं के साथ कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम के तहत भारत पाकिस्तान के बंटवारे के समय हमारे देशवासियों के संघर्ष और पीड़ा से जुड़े तथ्यों को स्मरण करते हुए प्रत्येक जिले में दो कार्यक्रम तय किये गये है। जिसमे एक मौन जुलूस तथा दूसरा ऑडिटोरियम फिल्म का प्रदर्शन है। मौन जुलूस उस समय की घटनाओं से संबंधित तख्तियां, बैनरों के साथ राष्ट्रध्वज तिरंगा की छत्रछाया में निकाला जाएगा।

ये जुलूस विशेषकर जिन लोगों ने विभाजन के समय यातनाएं झेली और अपने प्राणों की आहुति दी उनकी याद में निकाली जाएंगे। साथ ही विभाजन के समय की जानकारी रखने वाले वक्ताओं के साथ अनुभव साझा करते हुए प्रभावित परिवारों एवं व्यक्तियों को सम्मानित भी किया जाएगा। इसके अतिरिक्त कार्यक्रम में विभाजन से संबंधित साहित्य का वितरण और विभाजन विभिषिका के ऊपर एक प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। जिनमे समाचार पत्रों में प्रकाशित लेख, उस समय के विभाजन एवं उसकी विभिषिका से संबंधित समय-समय पर प्रकाशित चित्र होंगे। साथ ही पोडकास्ट, छोटी-छोटी वीडियो फिल्म्स और सोशल मीडिया के माध्यम से इसका अधिकाधिक प्रचार-प्रसार किया जाएगा।

उन्होंने कह कि आज देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है,ऐसे में पार्टी मानती है कि खुशी के इस मौके पर विभाजन का दंश झेलने वाले अपने लोगों को विनम्र श्रद्धांजलि दी जाए ।