विश्व प्रसिद्ध कैंची धाम और रानीखेत में हेडाखान भोले बाबा जी के दर्शन कर विधानसभा के बजट सत्र के लिए ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैण पहुंचे सीएम रावत

0
1496

 मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने कुमाऊं मंडल भ्रमण के दूसरे दिन की शुरुआत रानीखेत के निकट स्थित चिलियानौला में श्री श्री 1008 हेडाखान भोले बाबा जी के आश्रम में स्थित शिव मंदिर में भगवान के दर्शन के साथ की। इस दौरान उन्होंने ईश्वर से उत्तराखंड की उन्नति, खुशहाली और समृद्धि की कामना की।  

इस मंदिर को कुमाऊँ के प्रसिद्ध संत बाबा हेड़ाखान ने स्थापित किया था। उन्होंने कई वर्षों तक इस स्थान पर ध्यान और तप किया था। बाबा की विद्वता व सिद्धि को देखते हुए स्थानीय लोग उनकी पूजा करते थे। अब बाबा  के ब्रह्मलीन होने के पश्चात् इस मंदिर में बाबा के मूर्ति रूप की पूजा की जाती है। उनके असंख्य भक्त बाबा को भगवान शिव का अवतार मानते हैं और बाबा को श्री श्री 1008 बाबा हेड़ाखान महाराज के नाम से जाना जाता हैं। यह मंदिर भगवान शिव और बाबा हेड़ाखान जी महाराज को समर्पित हैं।

इस पहले मुख्यमंत्री ने शनिवार को कैंची धाम में बाबा नीब करौली के दर्शन किए। इस अवसर पर उन्होंने प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि की कामना की। इस अवसर पर सांसद अजय भट्ट भी उपस्थित थे। इसके बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत 1 मार्च से ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण (भराड़ीसैण) में शुरू हो रहे बजट सत्र के लिए गैरसैंण (भराड़ीसैण) पहुंच गए है। उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य भी गैरसैण पहुंच चुकी है।