कोरोना महामारी के बीच खुले विश्व प्रसिद्ध यमुनोत्री धाम के कपाट,चार धाम यात्रा की हुई शुरुआत

0
977

विश्व प्रसिद्ध यमुनोत्री धाम के कपाट आज शुक्रवार को अभिजीत मुहूर्त में दोपहर 12 बजकर 15 मिनट पर वैदिक मंत्रोच्चार के साथ खुल गए है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार बिना श्रद्धालुओं के कपाट खोले गए। इस दौरान सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार कोविड नियमों का अनुपालन किया गया। इसी के साथ चार धाम यात्रा की शुरूआत भी हो गई है।

आज अक्षय तृतीया है,इस शुभ संयोग पर उत्तराखंड में स्थित चारधाम के कपाट खोलने का क्रम शुरू हो गया है। आज शुभलग्न दोपहर 12:15 बजे यमुनोत्री धाम के कपाट खोले गए। इस बार  कोरोना संक्रमण को देखते हुए फिलहाल श्रद्धालुओं से धाम में न आने का आग्रह किया गया था। इसी का परिणाम रहा है की आज यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के शुभ अवसर पर मंदिर में कपाटोद्घाटन में पुजारी, तीर्थ पुरोहित एवं पलगीर समेत कुल 25 लोग शामिल हुए। इन सभी लोगों की कोरोना जांच कराई गई थी। इसी के साथ मां यमुनोत्री धाम के कपाट खोल दिए गए। यमुनोत्री धाम में सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से पूजा करवाई गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 11 सौ 1 रुपये मंदिर समिति के खाते में भिजवाए हैं।

मां यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने पर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने सभी श्रद्धालुओं को शुभकामनाएं दीं। मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में कहा हैं कि अक्षय तृतीया के शुभ संयोग पर उत्तराखंड में स्थित चारधाम के कपाट खोलने का क्रम शुरू हो गया है। आज शुभलग्न दोपहर 12:15 बजे यमुनोत्री धाम के कपाट खोले गए हैं। आमजन की सुरक्षा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए फिलहाल श्रद्धालुओं से धाम में न आने का आग्रह किया गया है। मंदिर में सिर्फ तीर्थ पुरोहित ही सीमित संख्या में विधिविधान के साथ मां यमुना की नियमित पूजा अर्चना करेंगे। मैं इस पवित्र मौके पर मां यमुना से कोरोना के जानलेवा संक्रमण से सभी की रक्षा करने और देश व प्रदेश की खुशहाली की कामना करता हूं।

आपको बता दें कि इस बार कोरोना महामारी के चलते इस बार चार धाम यात्रा को फिलहाल श्रद्धालुओं के लिए स्थगित किया गया है। लेकिन श्रद्धालुओं निराश न हों,इसके लिए सरकार जल्द ही श्रद्धालुओं को चारों धामों के वर्चुअल दर्शन कराने की तैयारी कर रही है। जिससे घर बैठे कर ही श्रद्धालुओं चारों धामों के दर्शन कर सकेंगे। यमुनोत्री धाम के कापट खुलने के अवसर पर यमुनोत्री मंदिर समिति के अध्यक्ष,एसडीएम चतर सिंह चौहान, उपाध्यक्ष राजस्वरूप उनियाल, सचिव पंच पंडा समिति लखन उनियाल, सुधाकर उनियाल, अंकित उनियाल, प्रवेश उनियाल, भुवनेश उनियाल सहित यमुनोत्री धाम के तीर्थ पुरोहित उपस्थित रहे।

विश्व प्रसिद्ध यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही आज से चार धाम यात्रा की शुरूआत भी हो गई है। इस क्रम में शनिवार 15 मई को गंगोत्री धाम के कपाट, 17 मई को केदारनाथा धाम के कपाट और 18 मई को बदरीनाथ धाम के कपाट खोल दिए जाएंगे। कोरोना के बढ़ते केसों के बीच इस साल भी श्रद्धालुओं को दर्शन करने की अनुमति नहीं दी गई है।