भारत में लगातार बढ़ रहे है कोरोना के मामले,दिल्ली,उत्तर प्रदेश,उत्तराखंड सहित कई राज्यों में बढ़ी सख्ती

0
1011

भारत में लगतार बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए। कई राज्यों की सरकारों ने अब सख्ती बढ़ाना शुरू कर दिया है। दिल्ली,उत्तर प्रदेश,उत्तराखंड,महाराष्ट्र,हरियाणा,गुजरात सहित कई राज्यों में सरकार ने कोरोना पर काबू पाने के लिए सख्ती बढ़ा दी है। उत्तर प्रदेश में लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, मेरठ, गोरखपुर सहित 2000 से अधिक एक्टिव केस वाले सभी 10 जनपदों में रात्रि 08 बजे से प्रातः 07 बजे तक कोरोना कर्फ्यू प्रभावी कर दिया गया है। इस आदेश को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है। लोगों को मास्क और सैनिटाइजेशन के महत्व को समझाने और आवश्यकतानुसार प्रवर्तन की कार्रवाई करने के निर्देशन दिए गए है।

भारत में कोरोना के नए केस हर रोज रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2,00,739 नए मामले सामने आए हैं। जबकि 1000 से अधिक मौतों के साथ कोविड से मरने वालों की कुल संख्या 1,73,123 हो गई है। आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों से लगातार पॉजिटिव मामले बढ़ने के मुकाबले कोविड-19 मरीजों के ठीक होने की दर में गिरावट दर्ज की जा रही है। ऐसे में राज्य सरकारें अब ज्यादा सख्ती बरत रही हैं।

उत्तर प्रदेश में कोविड संक्रमण से बचाव के दृष्टिगत कक्षा 1 से 12वीं तक के विद्यालयों में 15 मई तक पठन-पाठन स्थगित किया गया है। इस अवधि में कोई परीक्षा भी आयोजित नहीं होगी। माध्यमिक शिक्षा परिषद की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 20 मई के बाद आयोजित की जाएंगी। नई समय-सारिणी के लिए मई के पहले सप्ताह में विचार किया जाएगा।

कोविड-19 के प्रसार के दृष्टिगत विभिन्न राज्यों से प्रवासी श्रमिकों की वापसी संभावित है। अतःसभी जनपदों में कोविड प्रोटोकॉल के अनुरूप क्वारन्टीन सेंटर संचालित करने के आदेश दिए गए है। क्वारन्टीन सेंटरों में चिकित्सा सुविधाओं के साथ-साथ भोजन/शयन आदि की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के आदेश दिए गए है।इसी के साथ सरकार ने बेड की संख्या में और बढ़ोत्तरी के लिए तेजी से प्रभावी कार्यवाही करने का आदेश दिया है। कोविड चिकित्सालयों में चिकित्साकर्मियों एवं मेडिकल संसाधन की व्यवस्था प्राथमिकता पर की जाए।

उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते मामले लगातार डरा रहे है। उतराखंड में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1,16244 पहुंच गया है। जबकि 99,777 लोग स्वस्थ होकर घर लौट चुके है। उत्तराखंड में अभी भी 2181 केस एक्टिव है। गुरूवार की बात करें तो आज उत्तराखंड में कोरोना के 2220 मामले सामने आये है। जिनमें राजधानी देहरादून में 914,हरिद्वार में 613,पौड़ी में 105,उतरकाशी में 23,टिहरी में 79,बागेश्वर में 26,नैनीताल में 156,अल्मोड़ा में 55, पिथौरागढ़ में 29,उधमसिंह नगर में 131,रुद्रप्रयाग में 49,चंपावत में 26 और चमोली में 25 कोरोना के मामले आए है। उत्तराखंड में कोरोना से मरने वालों के आंकड़ों की बात करें तो यह 1802 पहुंच गया है। जिसे देखते हुए उत्तराखंड सरकार अब और कड़े कदम उठाने जा रही है।

देश की राजधानी दिल्ली की बात करें तो,दिल्ली में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले चिंता जनक होते जा रहे है। जिसे देखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल ने गुरूवार को महत्वपूर्ण समीक्षा बैठक की, जिसके बाद निर्णय लेते हुए दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू लगा दिया गया है। मुख्यमंत्री का कहना हैं कि कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए यह निर्णय लिया गया है। उम्मीद है दिल्लीवासी इस में सरकार का साथ देंगे।

दिल्ली में शुक्रवार रात 10 से सोमवार सुबह छह बजे तक वीकेंड कर्फ्यू लागू रहेगा। इस दौरान साप्ताहित बाजारों को बारी-बारी से लगाने के अनुमति होगी। रेस्त्रां खुले रहेंगे, लेकिन इन्हें केवल होम डिलीवरी की अनुमति दी गई है। जो लोग दूसरे राज्यों से दिल्ली आ-जा रहे है,उनके लिए किसी तरह से रोक नहीं लगाई गई है। वीकेंड कर्फ्यू के दौरान मॉल, जिम, स्पा और ऑडिटोरियम पूरी तरह से बंद रहेंगे। जो भी लोग आवश्यक सेवाओं से जुडे हैं,उन्हें वीकेंड कर्फ्यू के दौरान पास जारी किए जाएंगे।