उत्तरकाशी के नौगांव प्रखंड के क्वाल गांव में देव पूजा में खाना खाने से 50 लोगो बीमार,फिलहाल सभी ग्रामीण खतरे से बाहर

0
1810
सुनील थपलियाल

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में नौगांव प्रखंड के क्वाल गांव में देवपूजा के दौरान हुए भोज में फूड प्वाइजनिंग से 45 से अधिक ग्रामीण बीमार हो गए है। इस बारे में जानकारी मिलते ही एसडीएम चतर सिंह चौहान मेडिकल टीम को साथ लेकर क्वाल गांव पहुंचे। जहां ग्रामीणों की हालत गंभीर देखते हुए एंबुलेंस और टैक्सी वाहनों से 25 गंभीर मरीजों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नौगांव व 14 को बड़कोट अस्पताल पहुंचाया गया। जबकि चार लोगों का गांव में ही उपचार किया जा रहा है।

आपको बता दें कि ग्राम सभा क्वाल गांव में सामूहिक थाती पूजा का आयोजन चल रहा था। मंगलवार को पूजा समापन था जिसके बाद सामूहिक भोजन हुआ जिसको खाने के बाद गांव के अधिकत्तर ग्रामीण,महिलाएं,बच्चे व पुरूष फूड प्वाइजनिंग से अचानक बीमार होने लगे। लोगों उल्टी-दस्त होने लगा,जिसकी सूचना ग्रामीणों द्वारा प्रशासन को दी। जिसके बाद मौके पर प्रशासन पहुंचा।

 उपजिलाधिकारी चतर सिंह चौहान इस बारे में बताया कि ग्राम क्वाल में देवपूजा के दौरान फूड प्वाइजनिंग के मामले के बारे में जैसे ही हमें सूचान मिली हम पूरी टीम के साथ मौके पर पहुँचे।  जिसके बाद से बीमार हुए ग्रामीणों का उपचार जारी है। एक चिकित्सको की टीम गांव में इलाज करने में लगी है और गंभीर 40 ग्रामीणों का बड़कोट और नौगाँव अस्पताल में उपचार चल रहा है। प्रशासन  पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं।

उपजिलाधिकारी श्री चौहान ने बताया कि अभी तक नौगांव अस्पताल में 30 और बड़कोट में 10 लोगों को भर्ती किया गया है। जबकि गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच हेतु मौजूद हैं। उपजिलाधिकारी ने बताया कि पूरी स्थिति पर प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की निगरानी बनी हुई है।

बड़कोट अस्पताल में ग्रामीणों का इलाज कर रहे डॉ अंगद राणा ने से जब हमने इस बारे में बात कि तो उन्होंने बताया कि क्वाल गांव में फूड प्वाइजनिंग की जानकारी लगते ही बीमार ग्रामीणों को बड़कोट लाया गया है। यहां पर चिकित्सकों की टीम उपचार में जुटी है। फिलहाल सभी लोगों फिलहाल खतरे से बाहर है।

उत्तरकाशी के जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने क्वाल गांव में फूड प्वाइजनिंग के मामले की जांच के लिए एक कमेटी बनाए जाने की बात कही है। जिससे यह पता लग सके कि फूड प्वाइजनिंग के क्या कारण थे। ऐेसे में आगे भी इस तरह की घटनाओं को रोका जा सकेगा।

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में नौगांव प्रखंड के क्वाल गांव में देवपूजा के दौरान हुए भोज में फूड प्वाइजनिंग से बीमार हुए लोगों को जल्द से जल्द इलाज देने और उनकी अच्छी देखभाल करने ने लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सभी संबंधित अधिकारियों को आदेश दिए है। मुख्यमंत्री खुद इस पूरे घटनाक्रम पर नज़र रखे हुए है।