बाबा केदार की नगरी केदार घाटी के ग्रामीणों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए हंस फाउंडेशन की बड़ी मुहिम,गांवों के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों तक पहुंचाए जन स्वास्थ्य रक्षक उपकरण

0
1061

कोरोना की दूसरी लहर उत्‍तराखंड के दूरगामी ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुंचने लगी है। कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए देश भर में लॉकडाउन बढ़ाया गया है। यह संक्रमण शहरों से गांव की तरफ ज्याद न पहुंच पाएं इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा के साथ ही हर चीज की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने एवं ग्रामीणों तक बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाने का निर्देश दिया है। ताकि इस संक्रमण को गांव-गांव में फैलने रोका जा सके। प्रधानमंत्री निरंतर सभी राजनीतिक संगठन, सामाजिक संगठन, स्वयंसेवी समूह और मीडिया के अलावा ग्रामीण क्षेत्र के अन्य सभी लोगों से संयुक्त रूप से इस महामारी के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की अपील भी कर रहे है।

कोरोना महामारी के खिलाफ एक जुट होकर लड़ने के लिए तमामा सामाजिक संगठनों एवं स्वयंसेवी समूहों के साथ-साथ माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी के सानिद्धय में हंस फाउंडेशन कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ने के लिए प्रथम पंक्ति में खड़े होकर निरंतर अपनी सेवाएं दे रहा है। खासतौर उत्तराखंड के ग्रामीण क्षेत्रों की बात करें तो,इन क्षेत्रों में हंस फाउंडेशन कोरोना संक्रमण के खिलाफ मजबूती से यहां के ग्रामीणों के साथ खड़ा है। यही वजह भी हैं कि पिछले कुछ दिनों से इन ग्रामीणों क्षेत्रों में कोरोना वायरस के नए मामलों में लगातार कमी आ रही है।

माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी ‘अहर्निशं सेवामहे’ के संकल्प के साथ हंस फाउंडेशन के स्वयंसेवक सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए उत्तराखंड के दूरगामी क्षेत्रों में रह रहे ग्रामीणों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए स्वास्थ्य संबंधि हर जरूरी समान सामुदायिक स्वस्थ्य केंद्रों,पुलिस कर्मियों,ग्राम प्रधानों और आशा कार्यकर्ताओं तक पहुंचा रहे है।

इस क्रम में हंस फाउंडेशन ने माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज की प्रेरणा से रूद्रप्रयाग जिले की केदारा घाटी में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रथम पंक्ति में तैनात कोरोना वॉरियर्स,प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों,ग्राम प्रधानों,आशा कार्यकर्ताओं,युवक मंगल दलों को सरकारी नियामानुसार ग्रामीणों को किसी भी आपात स्थिति में सेवा देने के लिए रक्षा कवच के तौर पर ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स,नेबोलाइजंर मशीन, ऑक्सिमीटर, डिजिटल थर्मोमीटर, पीपीई किट, इंफ्रारेड थर्मोमीटर, ऑक्सीजन मास्क,सर्जिकल मास्क,सैनिटाइजर, स्टीमर, बीपी मशीन,गाउन सहित अन्य सामग्री प्रदान की है।

रुद्रप्रयाग जिला अस्पताल को हंस फाउंडेशन द्वारा कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए प्रदान किए गए जीवन रक्षक स्वास्थ्य उपकरण प्राप्त करने के बाद जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर विंदेश शुक्ला ने हंस फाउंडेशन का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह बहुत ही महत्वपूर्ण हैं की इस माहामारी के समय रूद्रप्रयाग जिला अस्पताल के साथ-साथ पूरे रूद्रप्रयाग जिले के स्वास्थ्य केंद्रों आशा कार्यकर्ताओं और ग्राम प्रधानों तक स्वास्थ्य जांच संबंधित वह सामान पहुंचा गया है। जिसकी जरूरत डॉक्टरों को प्राथमिक स्तर पर होती है। जिसमें ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स,नेबोलाइजंर मशीन, ऑक्सिमीटर, डिजिटल थर्मोमीटर, पीपीई किट, इंफ्रारेड थर्मोमीटर, ऑक्सीजन मास्क,सर्जिकल मास्क,सैनिटाइजर, स्टीमर, बीपी मशीनें प्रमुख है। इनके माध्यम से पहाड़ के दूरस्थ क्षेत्रों में रह रहे ग्रामीणों की प्राथमिक जांच की जा सकेगी और कोई भी आपता स्थिति आने से पहले उन्हें जिला अस्पताल और अन्य स्थानों तक पहुंचाया जा सकेगा। इसी के साथ हंस फाउंडेशन के माध्यम से रूद्रप्रयाग जिला अस्पताल को बड़ी मात्रा में होम आइसोलेशन किट प्राप्त हुई है। जिन्हें जल्द से जल्द से होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को उपलब्ध कराने की प्रक्रिया चल रही है।

रूद्रप्रयाग जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ.दिनेश चंद्र सेमवाल एवं वरिष्ठ डॉक्टर राजीव गैरोला ने हंस फाउंडेशन का आभार प्रकट करते हुए कहा कि हम आदरणीय माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज के साथ-साथ अधिवक्ता संजय दरमोड़ा जी का आभार व्यक्त करते हैं कि आपने इस संकट के समय में रूद्रप्रयाग जिले को इतनी बड़ी मदद प्रदान की है। यह मदद निश्चित तौर पर हजारों ग्रामीणों के लिए इस कोरोनाकाल में संजीवनी की तौर पर है। जो रूद्रप्रयाग जिले के दूरगामी क्षेत्र के लोगों के लिए बहुत बड़ी मददगार सिद्ध होगी।

इस बारे में रूद्रप्रायग जिले के दरम्वाणी गांव के मूल निवासी और समाजसेवी एवं अधिवक्ता संजय शर्मा दरमोड़ा ने बताया कि इस कोरोना संक्रमण के दौर में रूद्रप्रयाग जिले के ग्रामीणों के लिए बहुत ही सौभाग्य की बात की कोरोना महामारी का सामना करने के लिए पूरी केदार घाटी के लोगों को पूज्य माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का आशीष मिल रहा है। इस के लिए हम पूज्य माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी के कोटि-कोटि आभारी हैं कि आपका आशीष हमेशा की तरह इस संकट के समय में पूरे उत्तराखंड के साथ-साथ रूद्रप्रयाग की केदार घाटी के जनमानस को भी मिल रहा है।

श्री दरमोड़ा ने बताया कि हंस फाउंडेशन के माध्यम से रूद्रप्रयाग जिले को कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए हंस फाउंडेशन की स्वास्थ्य रक्षा संबंधित कीट पहुंचाई जा रही है। जिसमें रुद्रप्रयाग जिला अस्पताल को कंसन्ट्रेटर,नेबुलाइजर,ऑक्सिमिटर,ऑक्सिजन मास्क,डिजिटल थरमामीटर,सर्जिकल मास्क,सैनिटाइजर,पीपीई किट, इंफ्रारेड थर्मोमीटर, सर्जिकल मास्क,सैनिटाइजर, स्टीमर, बीपी मशीन,गाउन,होम आइसोलेशन किट सहित अन्य सामग्री प्रदान की गई है।

इसी के साथ केदारा घाटी में मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य केंद्र सतेराखाल,अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र घिमतोली,अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र सतेराखाल,राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय चोपता,प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बावई,सीसीसी स्पोर्ट काम्पलैक्स अगस्त्यमुनि,सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अगस्त्यमुनि,प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र उखीमठ, अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र फाटा के साथ-साथ गुप्तकाशी,भैंसारी,नारायण.कोटी,देवसाल,देवर,सांकरी,नाला,रूद्रपुर,उथिण्ड,फांपन,डूगू,डगंवाड़ी,गांधी नगर,पाली,गैड और मक्कूमठ सहित केदार घाटी के हर छोटे-बड़े स्वास्थ्य केंद्र, आशा कार्यकर्ताओं को हंस फाउंडेशन की स्वास्थ्य संबंधिति सामग्री पहुंचाई जा चुकी है,जो अब गांव-गांव जाकर ग्रामीणों की स्वास्थ्य जांच कर रहे है। इसी के साथ सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए,रूद्रप्रयाग जिले के ग्रामीणों के स्वास्थ्य का ध्यान में रखते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं सरकारी अस्पतालों इत्यादि को होम आईसोलेशन किट भी प्रदान की जा रही है।

श्री संजय दरमोड़ा ने बताया की इस समय उत्तराखंड में पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार बारिश हो रही है। जिसके चलते कई जगह रास्ते क्षतिग्रस्त हो गए है। इन तमाम कठनाइयों से जूझते हुए हमारे सहयोगी जगदंबा बेंजवाल,राजेंद्र रावत, कृष्णानंद नौटियाल एवं विजय जमलोकी जी लगातार कोरोना संक्रमण के इस दौर में पूज्य माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी द्वारा प्रदान की जीवन रक्षक सेवाओं को जन-जन तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण कार्य कर रहे है। इसके लिए हम सभी के आभारी है।

आपको बता दें कि स्वस्थ गांव के साथ-साथ स्वस्थ भारत के निर्माण में भागीदारी निभाते हुए माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी ने उत्तराखंड को कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए लगभग 14 करोड़ा रुपये के स्वास्थ्य संबंधित उपकरण एवं दवाइंयां प्रदान की है। साथ ही राज्य के लोगों को भरोसा दिलाया हैं कि भविष्य में कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए राज्य को किसी भी सहोयग की आवश्यकता होगी तो हंस फाउंडेशन उनके साथ खड़ा है।