उत्तरकाशी की यमुना घाटी में भारी बारिश का कहर,कई घरों में पड़ी दरारें,खेतों को भारी नुकसान

0
1398

उत्तराखंड में प्री मानसून की भारी बारिश के दौर के बाद कुछ दिनों तक गर्मी और शुष्क मौसम के बाद एक बार फिर उत्तराखंड में मौसम विभाग ने भारी बारिश की चेतावनी दी है। मौसम विभाग ने राज्य के कई हिस्सों में 11 जून से भारी बारिश की चेतावनी देते हुए यलो अलर्ट जारी किया। इसी के साथ उत्तराखंड में 11 और 12 जून को बारिश के साथ ही आंधी तूफान की संभावना और पहाड़ी ज़िलों के दूरस्थ इलाकों में काफी भारी बारिश भी होने की बात कही है।

इस बीच पहाड़ी क्षेत्रों की बात करें तो पहाड़ी क्षेत्रों में हर रोज रूक-रूक कर हो रही बारिश ने पहाड़ पर जन-जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। उत्तरकाशी के यमुना घाटी में हर रोज शाम के समय बारिश से नदी नाले उफान पर है।  बड़कोट तहसील के बनाल पट्टी के आधा दर्जन गाँव में अतिवृष्टि होने से भारी नुकसान पहुँचा है। दर्जनों आवासीय भवनों में दरारे आ गयी। खेत-खलिहान क्षतिग्रस्त हो गए। 40 से अधिक गावों को जोड़ने वाले मोटर पुल का एक हिसा क्षतिग्रस्त होने से इन गांव का संपर्क जिला मुख्यालय से कट गया। मत्स्य विभाग मत्स्य पालन केंद्र (ट्रोड) को भारी क्षति पहुँची है।

इन गांव में रह रहे ग्रामीणों ने बताया की पिछले दिनों से लगतार शाम के वक्त पूरी यमुना घाटी में बारिश हो रही है। जिसके चलते हमारे खेत-खलिहान बह गए है। गांव में कई लोगों के घरों में दरारें आ गई है। इसके बावजूद में शासन-प्रसाशन का एक भी अधिकारी हमारा हाल जानने नहीं आया।

आपको बता दें कि बड़कोट तहसील के बनाल पट्टी के नथेड़, कुड़, सिसाल,नाल्ड, कोटला,घुण्ड,धौसाली,जखाली, ब्याली,गैर और इडक़ गाँव में भारी अतिवृष्टि से फसलों और खेतों को भारी नुकसान पहुँचा है। कई घरों में पानी घुस गया, आधा दर्जन मकानों में दरार आ गयी। नौगांव राजगढ़ी मोटर मार्ग के कूड़ पुल का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त होने से से 40 से अधिक गाँव का संपर्क कट गया है। जिसकी सूचना जिला प्रशासन को दी गई है।