Uttarkashi Tunnel rescue LIVE:-सुरंग में फंसे श्रमिकों तक पहुंचने में बस 18 मीटर दूर टीम,हंस फाउंडेशन ने रेस्क्यू में लगी टीमों के लिए की भोजन की व्यवस्था,पीएम मोदी और सीएम धामी ने व्यक्त किया आभार

0
611

उत्तरकाशी के सिलक्यारा सुरंग से किसी भी समय अच्छी खबर आ सकती है। 12 नवंबर से सुरंग में फंसे श्रमिकों को बचाने के लिए लगी टीम के माध्यम से सूचना आ रही हैं कि जिस ऑगर मशीन से मंगलवार रात से ड्रिलिंग का काम चल रहा है। उस ऑगर मशीन से 800 एमएम के छह पाइप डाले जा चुके हैं। इसी के साथ लगभग 40 मीटर तक ड्रिलिंग की जा चुकी है। अब सातवें पाइप की वेल्डिंग का काम चल रहा है। इस लिए कहा जा रहा हैं कि सिलक्यारा से बहुत जल्द अच्छी खबर आ सकती है।


सिलक्यारा सूरंग में पिछले 45 घंटे से युद्धस्तर पर रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। इस रेस्क्यू में शामिल अमेरिकी ऑगर मशीन से अभी तक 39 मीटर तक 800 मिमी व्यास का पाइप डाला जा चुका है। रेस्क्यू में लगी टीमों का कहना हैं कि अब बचे घंटे हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। जिसके लिए सभी एजेंसियां मिलकर पूरी रणनीति के साथ काम कर रही है। जिसको देखते हुए कहा जा रहा हैं कि संभवत बुधवार रात या गुरूवार तक मजदूरों का रेस्क्यू किया जा सकता है।
आपको बता दें कि इससे पहले मंगलवार को सुरंग में फंसे मजदूरों तक कैमरा पहुंचाया गया था। जिससे इनके परिजनों से बात कराई गई थी। अब ड्रिलिंग का काम सकारात्मक दिशा में बढ़ रहा है। जिसे देखते हुए सुरंग में फंसे मजदूरों के परिवारों की चेहरे पर खुशी देखी जा रही है।
हंस फाउंडेशन की सिलक्यारा में फंसे श्रमिकों के लिए बड़ी पहल


सिलक्यारा सुरंग में पिछले कई घंटे से युद्धस्तर पर रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। इस सब के बीच हमेशा से सेवा के लिए समर्पित हंस फाउंडेशन ने माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी के मार्गदर्शन में यहां कार्यरत टीमों,सुरंग में फंसे श्रमिकों के परिवारों,बीआरओ,एसडीआरएफ,पुलिस-प्रशासन,मीडियाकर्मियों और विदेशी विशेषज्ञों की टीमों के लिए खाद्य सामाग्री की व्यवस्था कर भागीरथी सहयोग प्रदान किया है।
सिलक्यारा सुरंग में फंसे में मजदूरों के सकुशल बाहर निकलने के लिए हंस फाउंडेशन के प्रेरणास्रोत माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी ने कहा कि हम ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि बचाव अभियान जल्द से जल्द समाप्त हो और हमारे सभी श्रमिक सुरक्षित बाहर आएं। इसी के साथ हंस फाउंडेशन के माध्यम से सिलक्यारा सुरंग में फंसे श्रमिकों और वहां कार्यकर्त सभी एजेंसियों के लिए जो भी मदद की आवश्यकता होगी। हम उसके लिए हमेशा तैयार है।


आपको बता दें कि उत्तरकाशी के सिलक्यारा सुरंग में 12 नवंबर से फंसे 41 श्रमिकों को बचाने के लिए रेस्क्यू टीमें पिछले 10 दिन से सुरक्षित निकालने की पुरजोर कोशिश में जुटी हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इस रेस्क्यू ऑपरेशन पर नज़र बनाए हुए है। प्रधानमंत्री लगातार मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से राहत-बचाव कार्यों की जानकारी ले रहे है।
सिलक्यारा में मौके पर मौजूद एसडीएम शैलेंद्र सिंह नेगी ने बताया की सिलक्यारा सुरंग में रेस्क्यू टीमों और तमाम दूसरे अधिकारियों,श्रमिकों के परिजनों के साथ-साथ मौजूद तमाम एजेंसियां के लोगों के लिए हंस फाउंडेशन के माध्यम से भोजन की व्यवस्था की गई है। रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी टीमों के सदस्यों,मजदूरों के परिजनों,पुलिस-प्रशासन एवं तमाम दूसरी टीमों को हंस फाउंडेशन के सहयोग से निरंतर खाद्य सामाग्री प्रदान की जा रही है। जिसके तहत सुबह नाश्ता,दोपहर और रात को भोजन प्रदान किया जा रहा है। जिसके यहां कार्यरत सभी लोगों मोरल अप है।
एसडीएम शैलेंद्र सिंह नेगी ने बताया की यहां पर बहुत ठंड है। इसे देखते हुए हंस फाउंडेशन की ओर से मजदूरों के लिए ट्रेक सूट,जूते,मोज़े,टोपी और जैकेट भी प्रदान किए गए है। इसके लिए हम पूज्य माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज का आभार व्यक्त करते है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम धामी के माता मंगला जी का व्यक्त किया आभार


उत्तरकाशी के सिलक्यारा सुरंग में 12 नवंबर से फंसे 41 श्रमिकों को सुरक्षित निकालने की पुरजोर कोशिश में जुटी टीमों के साथ रात-दिन ख़डे होकर मदद पहुंचाने के लिए हंस फाउंडेशन के प्रेरणास्रोत माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आभार व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार सुरंग में फंसे मजदूरों के लिए चलाए जा रहे बचाव अभियान की जानकारी ले रहे हैं। बुधवार को भी प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से फोन पर राहत और बचाव कार्यों की जानकारी ली थी।