क्या फिर से पूर्ण लॉकडाउन की तरफ बढ़ रहा है देश !

0
1066

भारत में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों के देखते हुए लोग फिर से चिंतित होने लगे है। दिल्ली,उत्तराखंड,महाराष्ट्र,छत्तीसगढ,उत्तर प्रेदश सहित देश की कई राज्यों में बढ़ते कोरना संक्रमण के चलते एक बार फिर से नाईट कर्फ्यू लागा दिया गया है। ताजा आकाड़ों की बात करें तो भारत में कोरोना के रविवार को 1.52 लाख नए मामले आए है। जबकि पिछले 24 घंटे में कोरोना से देश में 839 लोगों की मौत हुई, जो पिछले साल 18 अक्टूबर के बाद कोरोना से एक दिन में सबसे ज्यादा मौत है।

इस बीच देश भर कोरोना के मामलों के बढ़ने से धीरे-धीरे स्कूल,कॉलेज,धार्मिक संस्थान और सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थानों को बंद किया जाने लगा है या फिर इनमें काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या कम कर दी गई है। दिल्ली में भी तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार कई कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए है।

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए दिल्ली सरकार ने शादी समारोह और अंतिम संस्कार में भागीदारी को सीमित कर दिया है। दिल्ली सरकार के आदेश में कहा गया है कि भीड़ जमा होने वाले सभी सामाजिक, धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों पर रोक रहेगी। इसी के साथ मेट्रो और बसों में 50 फीसद यात्री ही सफर कर सकेंगे। रेस्टोरेंट और सिनेमाहाल में 50 फीसद की अनुमति होगी।

उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मरीजों के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। राज्य के ऐसे सभी जिलों में जहां ऐक्टिव केस 500 से ज्यादा हैं, वहां अब नाइट कर्फ्यू लागू किया जाएगा। फिलहाल 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू लगाने के आदेश हैं। इसके अलावा 1 से 12 वीं तक के सभी स्कूल भी 30 अप्रैल तक बंद रहेंगे। लखनऊ के पीजीआई में 100 स्टाफ कोरोना संक्रमित पाया गया है। केजीएमयू में 250 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले है। पीजीआई में 73 पैरामेडिकल स्टाफ समेत 100 संक्रमित पाए गए है। बताया जा रहा हैं कि केजीएमयू में हर विभाग का स्टाफ कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुका है। 125 रेजिडेंट डॉक्टर 20 फैकल्टी कोरोना संक्रमित पाए गए है।

उत्तराखंड की बात करें तो राज्य में अब तक 1 लाख,7 हजार, 479 लोग संक्रमित हुए हैं। इनमें 97644 स्वस्थ्य हो चुके हैं। जबकि अभी 6241 सक्रिय मामले हैं। कोरोना संक्रमित 1752 मरीजों की मौत भी अब तक हो चुकी है। कोरोना की दूसरी लहर के कारण राज्य में संक्रमण दर भी बढ़कर 3.56 फीसद तक पहुंच गई है। रिकवरी रेट भी 96 फीसद से नीचे खिसककर 90 फीसद के करीब आ गया है। कोरोना के मामलों को बढ़ते देख सरकार ने नाइट कफ्र्यू के दौरान व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखने का फैसला लिया है लेकिन उनके वाहनों के आवागमन की छूट रहेगी। ताकि वह माल की लोडिंग-अनलोडिंग कर सकें। इसमें फल-सब्जी, दूध, पेट्रोल/डीजल, गैस आपूर्ति, चिकित्सा सेवा से संबंधित वाहन शामिल रहेंगे। इसके अलावा जो लोग दूसरे राज्यों से हवाई जहाज, ट्रेन या बस से आ रहे हैं, उन्हें भी कर्फ्यू से छूट रहेगी। दूसरे राज्य से आवागमन करने पर निजी वाहनों के संचालन की भी छूट होगी। सिर्फ संबंधित यात्रियों को यात्रा से संबंधित टिकट/टोल पर्ची आदि का विवरण रखना होगा।

इसी बीच मसूरी से खबर आ रही है कि मसूरी के लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी में 3 आईएएस अधिकारी कोरोना संक्रमित हो गए है। जिनमें से एक आईएएस अधिकारी डिप्टी डायरेक्टर लाल बहादुर शास्त्री अकादमी में है। बताया जा रहा हैं कि इनमें से 2 आईएएस ऑफिसर महाराष्ट्र से मसूरी अकादमी में इंडक्शन ट्रेनिंग के लिए आए थे। जिनको एलबीएस परिसर में स्थापित आइसोलेशन वार्ड में आइसोलेट किया कर दिया गया है।

देश में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों को देखते हुए लोगों के मन में सवाल उठ रहा है कि क्या फिर से पूरे देश में लॉकडाउन लग सकता है। हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बढ़ते मामलों पर चिंता जताने के साथ ही दो टूक कहा है कि फिलहाल संपूर्ण लॉकडाउन की जरूरत नहीं है। प्रधानमंत्री ने नाईट कर्फ्यू का भी समर्थन किया है।