पौड़ी विधायक मुकेश कोली ने जिला अस्पताल पौड़ी एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोट का निरीक्षण कर जाना कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों का हाल

0
1393

कोरोना संक्रमण के मामले अब धीरे-धीरे गांव में पैर पसारने लगे है। उत्तराखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे है। कोरोना की दूसरी लहर से उत्तराखंड को जल्द से जल्द बचाया जा सके इसके लिए सरकार और तमाम सामाजिक संगठन निरंतर प्रयासरत है। सरकार द्वार पहाड़ के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य संबंधि हर सुविधा ग्रामीणों तक पहुंचाई जा रही है। सरकार में मंत्री इन ग्रामीण क्षेत्रों में बने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों,जिला अस्पतालों और कोविड सेंटरों का दौरा कर स्थलीय निरीक्षण कर रहे है।

इस क्रम में सोमवार पौड़ी विधायक मुकेश कोली ने जिला अस्पताल पौडी, जीआईसी पौड़ी एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोट का स्थलीय निरीक्षण कर कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों का हाल-चाल जाना। इस दौरान उनके साथ जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ.विजय कुमार जोगदण्डे और तमाम अधिकारी मौजूद रहे है। इस दौरान श्री कोली ने पीपीई किट पहनकर जिला अस्पताल पौड़ी में कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों और टीकाकरण के लिए पहुंचे लोगों का हाल-चाल जान उनका हौसला बढ़या। जिसके बाद उन्होंने पौड़ी जिला अस्पताल में चल रही तामम स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया। कोरोना समंक्रण के इस दौर में अपने विधायक को अपने बीच देख कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों के चेहरे प्रफुल्लित थे।

जिला अस्पताल पौड़ी में स्थलीय निरीक्षण के लिए पहुंचे विधायक मुकेश कोली ने अस्पताल में जनरल वार्ड, सर्जिकल वार्ड, पैथोलॉजी लेब, पर्ची काउंटर, आईसीयू कक्ष, कोविड संक्रमित वार्ड का निरीक्षण करते हुए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोविड संक्रमण के दृष्टिगत गंभीरता के साथ कार्य करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि अस्पताल में कोरोना से लड़ने के लिए पर्याप्त मात्रा में सामाग्री उपलब्ध है। श्री कोली ने बताया की जिला अस्पताल के लिए एक हजार एलपीएम ऑक्सीजन प्लांट की स्वीकृति मिल गयी है। जिसके लिए भूमि का चयन भी हो चुका है। जिसका कार्य जल्द ही पूर्ण कर लिया जाएगा। जिससे आम जनमानस को इसका लाभ मिल सकेगा। उन्होंने निरीक्षण करते हुए कहा कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मध्य नजर हम इससे लड़ने के लिए सक्षम है। कोशिश यह की जाएं की यह लहर आए ही नहीं। श्री कोली ने स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिए कि मरीजों को खाने की व्यवस्था, पानी, सैनेटाइजर, मास्क सहित अन्य आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। मरीजों को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत न हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए।

पौड़ी जिला अस्पताल के निरीक्षण के बाद श्री कोली ने कोविड टीकाकरण स्थल जीआईसी पहुंचकर वैक्सीनेशन के लिए आए लोगों से उनकी समस्याओं को जाना और उनसे अधिक से अधिक संख्या में टीकाकरण हेतु अन्य लोगों को भी जागरूक करने अनुरोध किया। उन्होंने प्रतीक्षालय कक्ष,टीका कक्ष तथा ऑब्जर्वेशन कक्ष का निरीक्षण कर संबंधित स्वास्थ्य अधिकारियों से अब तक किये गये टीकाकरण की जानकारी ली। साथ ही टीकाकरण स्थल पर लोगों के लिए बैठने,पानी सहित अन्य व्यवस्थाएं सुचारू करने के निर्देश भी दिए।

पौड़ी जिला अस्पताल एवं कोविड टीकाकरण स्थल जीआईसी का निरीक्षण करने के बाद पौड़ी विधायक श्री कोली ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोट का निरीक्षण करने पहुंचे। जहां उन्होंने संबंधित अधिकारियों से केंद्र में कोविड संक्रमण के बचाव के लिए किए जार रहे कार्यों की जानकारी ली। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोट द्वारा अस्पताल हेतु उपकरणों की मांग पर उन्होंने कहा कि दो दिन के अंदर उपकरण अस्पताल को उपलब्ध करा दिए जाएंगे, ताकि आम जनमानस को स्वास्थ्य सुविधा पूरा लाभ मिल सके। इस मौके पर श्री कोली ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा समस्त ग्राम प्रधानों को 50-50 दवाइयों की किट उपलब्ध कराई जा रही है। जिन्हें ग्राम प्रधानों द्वारा अपने-अपने गांव में समय रहते प्राथमिक उपचार के तौर पर कोरोना संक्रमित व्यक्ति एवं कोविड लक्षण के लोगों को प्रदान किया जाएगा।

इस मौके पर जिलाधिकारी डॉ.विजय कुमार जोगदण्डे ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि कोविड वार्ड के बाहर बैनर, पोस्टर एवं फ्लेक्सी लगाना सुनिश्चित करें। जिससे सभी को आसानी से पता लग सके कि यह कोरोना वार्ड है। साथ ही वार्ड के बाहर चार्ट लगाना भी सुनिश्चित करें। जिसमें ड्यूटी में तैनात डॉक्टरों एवं कर्मचारियों का नाम लिखा हो। जिलाधिकारी ने कहा कि वर्तमान में जिला अस्पताल पौड़ी मे कोविड मरीजों के लिए 70 बेड लगाए गए है। जिनकी संख्या 165 करने की स्वीकृति मिल चुकी है। जिलाधिकारी ने जीआईसी टीकाकरण स्थल पौडी में निरीक्षण के दौरान संबंधित अधिकारियों को साफ सफाई की व्यवस्था एवं सामाजिक दूरी बनाये रखने के निर्देश दिए। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोट के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोट में 10 बेड की व्यवस्था के साथ ही यहाँ पर माईनर ओटी संचालित की जा रही है। यहाँ वैक्सीनेशन की सेशन साइट भी संचालित की जा रही है और लक्ष्य के अनुरूप 45 साल से अधिक उम्र व फ्रंटलाइन वर्करों का 80 प्रतिशत टीकाकरण हो चुका है। इसके पश्चात ग्राम प्रधानों निर्वाचित सदस्यों,बैंक कर्मियों,सस्ता गल्ला विक्रेता व सभी फ्रंटलाइन वर्करों को भी शासन की स्वीकृति मिलते ही वैक्सीनेशन का कार्य प्रारंभ किया जायेगा।

इस मौके पर पौड़ी नगर पालिका अध्यक्ष यशपाल बेनाम, प्रमुख कोट पूर्णिमा नेगी, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ.मनोज शर्मा,एसीएमओ डॉ.अशोक तोमर,सीएमएस पौड़ी डॉ.रमेश राणा, डॉ.मनप्रीत, सुषमा रावत, क्रांति किशोर, राजेंद्र रावत, रीना रौथाण सहित अन्य लोगों भी उपस्थित रहे।