देवभूमि में इंसानियत फिर हुई शर्मसार,दुष्कर्म की शिकार किशोरी ने दिया बच्ची को जन्म

0
1588

उत्तराखंड से पिछले कुछ दिनों से लगातार शर्मसार करने वाली खबरें आ रही है। राज्य में दुष्कर्म के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। दुष्कर्म का शिकार छोटी-छोटी बच्चियां और महिलाएं हो रही है। आपको ये जानकर बेहद शर्मिंदगी महसूस होगी कि साल 2001 से साल 2019 तक प्रदेश में दुष्कर्म के 3956 केस रिपोर्ट हुए,मतलब प्रदेश में हर साल दुष्कर्म के औसतन 208 केस सामने आए।

देवभूमि में लगातर बढ़ते दुष्कर्म के मामलों के बीच एक और शर्मसार करने वाली खबरे रूदपुर की एक मलिन बस्ती से आ रही है। जहां एक 12 साल की नाबालिग ने एख बच्ची को जन्म दिया है। बताया जा रहा हैं कि इस लड़की को इसके पड़ोस में रहने वाले एक व्यक्ति ने हवस का शिकार बना लिया था।

दुष्कर्म की शिकार हुई बच्ची की शुक्रवार रात को अचानक तबीयत खराब हुई। परिजनों ने लोकलाज के डर से बच्ची की तबीयत खराब होने की बात किसी को नहीं बताई। जिसके बाद शुक्रवार रात को ही इस बच्ची ने एक बच्ची को जन्म दिया। लेकिन इस नवजात की कुछ ही देर में मौत हो गई। जिसके बाद इस बच्ची को जन्म देने वाली 12 वर्षिय किशोरी की तबीयत भी ज्यादा खराब हो गई। जिसके बाद परिजनों ने इस किशोरी को जिला अस्पताल भर्ती करवाया। जहां किशोरी की हालत गंभीर बनी हुई है।

पुलिस ने दुष्कर्म के आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट में केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का कहना हैं कि इस किशोरी के परिजनों का कहना हैं कि इन पड़ोस में रहने वाले एक विवाहित व्यक्ति ने उनकी बेटी से दुष्कर्म किया था। जिसके बाद हमने उस के घर पर दबिश दी और आरोपी दीवान मंडल के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 और पॉक्सो एक्ट में केस दर्ज कर लिया है साथ ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।

आपको बता दें इससे पहले  पिथौरागढ़  में भी एक किशोरी के बच्चे को जन्म देने की घटना सामने आई थी। जहां नाबालिग ने अस्पताल के टॉयलेट में बच्चे को जन्म दे दिया था।