Bageshwar By Election:-भाजपा प्रत्याशी आज करेंगी नामांकन,सीएम धामी सहित भाजपा के कई नेता होंगे शामिल

0
550

उत्तराखंड की बागेश्वर विधानसभा सीट पर 5 सितंबर को होने वाले उप चुनाव के भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार पार्वती दास आज नामांकन दाखिल करेंगी। इस मौके पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सहित भाजपा के कई बड़े नेता मौजूद रहेंगे। आपको बता दें कि यह सीट चंदन राम दास के निधन के बाद खाली हुई है। पार्वती दास पूर्व विधायक और मंत्री चंदन राम दास की पत्नी हैं। जिन्हें भाजपा ने चुनावी मैदान में उतारा है।

भाजपा की उम्मीदवार पार्वती दास के सामने कांग्रेस ने बसंत कुमार को उम्मीदवार बनाया है। जो आम आदमी पार्टी से कांग्रेस में शामिल हुए है। इन दोनों उम्मीदवारों के बीच कड़ा मुकाबला होने के बात कही जा रही है। भारतीय जनता पार्टी ने दावा किया है कि हम बागेश्वर में स्वर्गीय चन्दन रामदास के कार्यो की बदौलत रिकॉर्ड मतों से जीतेगें

बाहर से प्रत्याशी लाकर कांग्रेस ने स्वीकार की हार

भाजपा ने बागेश्वर उप चुनाव में पार्वती दास की उम्मीदवारी का स्वागत करते हुए जन आशीर्वाद और स्वर्गीय राम दास के कामों की बदौलत बागेश्वर उपचुनाव रिकॉर्ड मतों से जीतने का भरोसा जताया है।

प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा कि केंद्रीय पार्लियामेंट्री बोर्ड ने राज्य से भेजे गए नाम में से पार्वती देवी को बागेश्वर उपचुनाव के लिए पार्टी का प्रत्याशी घोषित किया है। जिसके बाद कार्यकर्ताओं एवं स्थानीय लोगों में प्रसन्नता है और भाजपा की रिकॉर्ड जीत के प्रति विश्वास और अधिक बढ़ गया है। श्री भट्ट ने कहा कि पूर्व कैबिनेट मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता स्वर्गीय चंदन राम दास ने बागेश्वर के विकास के लिए अविस्मरणीय काम किए हैं। जिसके कारण स्थानीय कार्यकर्ताओं की भावनाएं और जनता का विश्वास, बागेश्वर के प्रतिनिधित्व के लिए उनके जैसे व्यक्तित्व के ही पक्ष में था। हमारी पार्टी उम्मीदवार पार्वती स्वर्गीय रामदास की जीवनसंगिनी होने के नाते उनके समस्त सामाजिक एवं संगठनात्मक कार्यों में पूरी तरह जुड़ी रही हैं। लिहाजा जनप्रिय स्वर्गीय रामदास के क्षेत्रीय विकास को लेकर देखे गए सपनों को आगे बढ़ाने के लिए पार्वती दास को आगे करना वहां के जनमानस की अपेक्षा के अनुरूप है।

श्री भट्ट ने भरोसा जताते हुए कहा कि बागेश्वर की जनता विकास के कामों को आगे बढ़ाने और स्वर्गीय रामदास के योगदान को श्रृद्धांजलि देते हुए रिकॉर्ड मतों से भाजपा को जिताने जा रही है। उन्होंने कांग्रेस पर तंज किया कि बाहर से लाए व्यक्ति को प्रत्याशी घोषित करना बताता है,उनके अपने नेता बागेश्वर में हार स्वीकार कर चुके हैं।

भट्ट ने कहा कि कांग्रेस को न अपने नेताओं पर और न ही उनके नेताओं को अपनी जीत पर भरोसा है। कांग्रेसी उम्मीदवार की घोषणा से आखिरकार हमारी आशंका भी सही साबित हुई कि कांग्रेस अपने नेताओं की गलतफहमी बनाए रखने के लिए ही आलाकमान को तीन नामों का पैनल भेजने का नाटक करती है। जबकि हकीकत यह है कि उनका कोई भी नेता,स्वर्गीय चंदन राम दास के क्षेत्र की जनता के जीवन में बदलाव के लिए किए कार्यों की बराबरी करने की स्थिति में नहीं है। वे जानते हैं कि बागेश्वर की जनता पीएम मोदी और सीएम धामी के नेतृत्व में चल रही डबल इंजन की सरकार के कार्यों से प्रसन्न है और स्वर्गीय राम दास की संवेदनशीलता और जनकल्याण की भावनाओं से अभिभूत है । लिहाजा जनभावनाओं और विश्वास को भाजपा के पक्ष में भांपते हुए मीडिया की सुर्खियां बनने को आतुर रहने वाला कोई नाम सामने नहीं आया। कांग्रेस अपने गठबंधन की सहयोगी पार्टी को ही धोखा देकर प्रत्याशी लाई है। बागेश्वर की जनता देख रही है कि परदे के पीछे अनैतिक सांठगांठ से बाहरी उम्मीदवार खड़ा कर,जो अपनी ही पार्टी के लोगों को धोखा दे सकते है वो उनका भला क्या करेंगे? लिहाजा डबल इंजन सरकार के कार्यों को जारी रखने और स्वर्गीय राम दास के सपनों का बागेश्वर बनाने के लिए जनता रिकॉर्ड मतों से भाजपा को जिताने जा रही है।