नैनीताल में कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ने किया ध्वजारोहण,उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों को किया सम्मानित

0
1117

उत्तराखंड में मंगलवार को 72वां गणतंत्र दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। मन्दिरों, मस्जिदों,गुरूद्वारों एवं गिरजाघरों में देश में अमन चैन, तरक्की एवं खुशहाली की दुआएं की गयी। भारत माता की जय, गणतंत्र दिवस अमर रहे तथा महात्मा गांधी अमर रहे के उद्घोष के साथ प्रभात फेरियों का आयोजन भी किया गया।

पर्यटन नगरी में गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम की धूम रही। कार्यक्रम में संविधान की शपथ भी लोगों द्वारा ली गयी।      फ्लैट्स मैदान में आयोजित भव्य परेड की सलामी परिवहन मंत्री यशपाल आर्य द्वारा ली गयी। कार्यक्रम में उनके द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर उपस्थित जन समुदाय को संबोधित करते हुए श्री आर्य ने अमर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि स्वतन्त्रता संग्राम के रणबांकुरो के बलिदान का प्रतिफल है कि आज हम आजाद देश के नागरिक हैं तथा विकास के पथ पर आगे बढ़ रहे है।

श्री आर्य ने भारतीय संविधान पर प्रकाश डालते हुए कहा कि संविधान ने देश के सभी नागरिकों को अधिकारों के साथ ही मौलिक कर्तव्य भी निर्धारित किए हैं। श्री आर्य ने कहा कि हमें अपने अधिकारों का प्रयोग इस प्रकार करना चाहिए कि दूसरे व्यक्ति की स्वतंत्रता का हनन न हो। हमें अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों का पालन भी पूरी निष्ठा से करना चाहिए। प्रत्येक नागरिक को कर्तव्य बोध होना चाहिए। उन्होंने राज्य तथा केन्द्र सरकार द्वारा चलाये जा रही विभिन्न जन काल्याणकारी योजनाओं एवं कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी तथा सभी को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं भी दी।

गणतंत्र दिवस के मौके पर विधायक संजीव आर्य ने सभी को गणतन्त्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हम सभी भाग्यशाली है कि हम एक स्वतन्त्र देश के नागरिक है देश को एकता के सूत्र में पिरोये रखने में भारतीय संविधान का विशेष योगदान है।

फ्लैट्स मैदान में कार्यक्रम के मुख्य अतिथि परिवहन मंत्री श्री यशपाल आर्य द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने वाले पुलिस क्षेत्राधिकारी विजय थापा, इस्रार अहमद, लता खत्री, भूपेन्द्र सिंह पटवाल, हीरा सिंह कार्की, केवलानन्द पाठक, दान सिंह के साथ विद्यालयों में विभिन्न प्रतियोगिता में विभिन्न बच्चों को प्रतीक चिन्ह एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।