उत्तराखंड में लगातार बढ़ रहा है कोरोना संक्रमण,राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी सहित राज्य के कई आइएएस अफसर संक्रमित

0
1258

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकडों के मुताबिक उत्तराखंड में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1,10146 पहुंच चुका है। स्वस्थ होकर घर लौटे लोगों की बात करें तो उत्तराखंड में 97,492 लोग स्वस्थ होकर घर लौटे चुके है। राज्य में अभी भी 7,849 केस एक्टिव है। सोमवार को देहरादून में 554,हरिद्वार में 408,पौड़ी में 70,उतरकाशी में 07, टिहरी में 56,बागेश्वर में 03,नैनीताल में 114,अलमोड़ा में 07,पिथौरागढ़ में 03,उधमसिंह नगर में 89,रुद्रप्रयाग में 09,चंपावत में 07 और चमोली में 07 कोरोना के मामले सामने आए। जबकि सोमवार को कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 1,767 पहुंच चुका है।

इस बीच उत्तराखंड से राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी सहित कई आइएएस अफसरों के कोरोना संक्रमित होने की खबर आ रही है। अनिल बलूनी के सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी दी हैं कि ‘मित्रों, आज मेरी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। मैंने तत्काल उपचार प्रारम्भ कर दिया है। कोरोना का प्रभाव बढ़ रहा है। आप सभी अपना ध्यान रखें।’

उत्तराखंड सचिवालय में भी कई अधिकारियों के कोरोना संक्रमित होने की खबरें आ रही है। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। साथ ही अपर मुख्य सचिव मनीषा पंवार, प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा आनंद वर्धन, अपर सचिव एसएस वल्दिया भी संक्रमित पाए गए हैं। जिसके बाद सभी अधिकारी चिकित्सकों की सलाह पर वह आइसोलेट हो गए हैं। चिकित्सकों के अनुसार सभी अधिकारियों का स्वास्थ्य सामान्य बना हुआ है। सभी अधिकारियों को चिकित्सकों के देख-रेख में रखा गया है। इसी के साथ इन अधिकारियों के संपर्क में आए स्टाफ की भी जांच की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने उन सभी सचिवालय स्टाफ से खुद को आइसोलेट करने की सलाह दी है जो भी स्टाफ पिछले कुछ दिनों से संक्रमित अधिकारियों के साथ ड्यूटी पर थे।

हरिद्वार कुंभ से भी कोरोना को लेकर चौकाने वाली खबरें आ रही है। जहां अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि समेत 15 संत अब तक पॉजिटिव आ चुके हैं, जबकि 100 से अधिक संतों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। जिनका इंतजार किया जा रहा है।

आपको बता दें कि इससे पहले उत्तराखंड में कई शैक्षणिक संस्थानों, सरकारी प्रतिष्ठानों में भी संक्रमण तेजी से पैर पसार चुका है। केंद्रीय अकादमी राज्य वन सेवा, ओएनजीसी, आयकर विभाग, दून स्कूल, वेल्हम गर्ल्स स्कूल, एनआइटी श्रीनगर और आइआइटी रुड़की के बाद अब सचिवालय भी कोरोना संक्रमण की चपेट में है। जिसके बाद से सचिवालय में हंड़कंप मच गया है। जबकि अभी कई अधिकारियों और सचिवालय स्टाफ से रिपोर्ट आना बाकि है।