भूस्खलन से बंद गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर फंसी गर्भवती महिला के लिए देवदूत बनी एसडीआरएफ

0
1041

उत्तरकाशी में गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग सुनगर के पास बंद होने से लोगों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा रहा। आस-पास के क्षेत्रों में रह रहे ग्रामीण जान हथेली पर रखकर इस स्थान पर आवाजाही कर रहे है।

सोमवर को गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर मुखवा गांव से एक गर्भवती महिला को अस्पताल ले जा रही एम्बुलेंस कई घंटे फंसी रही है। जिसके बाद पुलिस व एसडीआरएफ की टीम ने गर्भवती महिला को भूस्खलन क्षेत्र पार करवाकर अस्पताल पहुंचाया। भूस्खलन के कारण गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग को खोलने के लिए प्रशासन प्रयास कर रहा है। सोमवार को इस भूस्खलन की वजह से सीमान्त गांव मुखबा की गर्भवती महिला बीच रास्ते में फंस गई थी। जिसके बाद महिला के परिजनों ने पुलिस को मदद के लिए फोन किया।  जिसके बाद गर्भवती महिला की मदद के लिए एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची और महिला को एसडीआरएफ के जवानों ने भूस्खलन स्थल से सकुशल निकालकर अस्पताल तक पहुंचाया।

आपको बता दें कि गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुनगर के पास भूस्खलन की वजह से भारी मलबा आने से बंद है। जिसकी वजह से सोमवार को इस स्थान पर सीमान्त गांव मुखबा की 20 वर्षिय गर्भवती महिला करिश्मा फंस गई थी। जिसे स्थानीय पुलिस एवं एसडीआरएफ के जवानों ने सकुशल निकालकर अस्पताल पहुंचाया। जिसके लिए महिला के परिजनों ने पुलिस प्रशासन और एसडीआरएफ के जवानों का आभार व्यक्त किया।