कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए हंस फाउंडेशन ने उत्तराखंड को प्रदान किए 14 करोड़ रुपये के स्वास्थ्य संबंधित उपकरण,रुद्रप्रयाग जिले को दिए गए स्वास्थ्य उपकरणों को सीएम तीरथ रावत ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

0
2033

कोरोना महामारी से लड़ने के लिए सरकार स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर से बेहतर से करने में जुटी है। ऐसे में तमाम सामाजिक संगठन और निजि संस्थाएं सरकार के साथ कदम से कदम मिलाकर चल रही है। ताकि इस कोरोना वायरस को जड़ से समाप्त किया जा सके। इस कड़ी में प्रथम पंक्ति में खडा है हंस फाउंडेशन,जो कोरोना संक्रमण के खिलाफ ‘रक्षा कवच’ के तौर पर देश-प्रदेश के साथ खड़ा है।

इस क्रम में हंस फाउंडेशन द्वारा माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले महाराज जी के मार्गदर्शन में रविवार को बीजापुर हाउस में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को 40 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स, 60 नेबोलाइजंर मशीन, 500 ऑक्सिमीटर, 448 डिजिटल थर्मोमीटर, 587 पीपीई किट 587, 50 इंफ्रारेड थर्मोमीटर,ऑक्सीजन मास्क 300,सर्जिकल मास्क 3250,सेनिटाइजर 170, स्टीमर 100, बीपी मशीन 20,गाउन 1140 व अन्य स्वास्थ्य सामग्री भेंट किए। जिन्हें मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने देहरादून से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए हंस फाउंडेशन ने राज्य को लगभग 14 करोड़ा रुपये की लगात का तमाम स्वास्थ्य संबंधित सामान प्रदान किया है। इसी के साथ भविष्य में राज्य को जरूरत पड़ने पर और सहयोग भी प्रदान किया जाएगा।

कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए हंस फाउंडेशन राज्य को कर रहा है निरंतर सहयोग-सीएम रावत

इस मौके पर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि कहां कि माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का आशीर्वाद हमेशा प्रदेश को हर सुख-दुःख में मिलता रहा है। कोरोना संक्रमण के इस दौर में भी हंस फाउंडेशन का सहयोग प्रदेश को निरंतर मिल रहा है। इसके लिए हम माता मंगला जी-भोले जी महाराज जी के आभारी है। मुख्यमंत्री जी ने कहां कि हंस फाउंडेशन कोरोना संक्रमण के इस दौर में स्वास्थ्य के क्षेत्र में निरंतर पहाड़ के दूरगामी क्षेत्रों तक मदद पहुंचा रहा है। हंस फाउंडेशन ने माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज के मार्गदर्शन में देश सहित उत्तराखंड को बड़ी मदद प्रदान कर रहा है। फाउंडेशन के माध्यम से प्रदेशभर में वेंटीलेटर,ह्यूमिडिफायर,हेल्थ मॉनिटर्स,बाइपैप,ट्रैक्स एम्बुलेंस,मास्क,सैनिटाइजर,सरकारी नियामानुसार विभिन्न प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं सरकारी अस्पताल इत्यादि के माध्यम से होम आईसोलेशन किट का वितरण की जा रही है। इस के हम माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज का आभार प्रकट करते है। उम्मीद है,हंस फाउंडेशन का यह सहयोग राज्य को निरंतर मिलता रहेगा। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल, कैबिनेट श्री गणेश जोशी मुख्यमंत्री तीरथ रावत जी के प्रमुख सलाहकार डॉ.आरबीएस रावत आदि मौजूद थे।

‘अहर्निशं सेवामहे’ (हम दिन-रात सेवा में रहते हैं) की परिकल्पना के साथ कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए प्रदेश में जल्द दिखेंगी हंस फाउंडेशन की 30 नई एम्बुलेंस

आपको बता दें कि कोरोना वायरस के खिलाफ जंग के लिए हंस फाउंडेशन ने माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज के मार्गदर्शन में देश सहित उत्तराखंड को बड़ी मदद प्रदान की है।

  • एम्स ऋषिकेश को 30 वेंटीलेटर, 30 ह्यूमिडिफायर प्रदान किए जा रहे है।
  • हिमालयन अस्पताल देहरादून को 10 वेंटिलेटर,20 हेल्थ मॉनिटर्स, 20 बाइपैप, 05 ह्यूमिडिफायर प्रदान किए जा रहे है।
  • मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा में स्थिति मेडिकल कॉलेज को 15 वेंटीलेटर प्रदान किए गए है।
  • एनसीआर के अस्पतालों को कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए 08 वेंटिलेटर प्रदान किए जाने है।
  • उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग को 15 ट्रैक्स एम्बुलेंस प्रदान की जाएंगी। कोरोना संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम हेतु स्वास्थ्य विभाग को होम आईसोलेशन किट प्रदान की गई है। जो पहाड़ के दूरगामी क्षेत्रों के ग्रामीणों को निःशुल्क प्रदान की जा रही है।
  • उत्तराखंड में गैरसरकारी संगठनों के माध्मय से स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए 10-15 ट्रैक्स एम्बुलेंस खरीदने के प्रक्रिया जारी है।
  • सरकारी नियामानुसार विभिन्न प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं सरकारी अस्पताल इत्यादि के माध्यम से  होम आईसोलेशन किट का वितरण होगा।
  • ग्राम स्तर पर कार्य करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों को प्रदान की जाएंगी,पीपी.कीट,ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर इत्यादि।
  • उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग को कंसेंट्रेटर,ऑक्सीमीटर एवं दवाइंयों के साथ-साथ अन्य जरूरी सेवाएं प्रदान की जा रही है।
  • उत्तराखंड के विभिन्न हिस्सों में कोरोना संक्रमण से बचने के लिए निरंतर मास्क एवं सैनिटाइजर का वितरण किया जा रहा है।
  • हंस फाउंडेशन अस्पताल सतपुली के साथ-साथ देहरादून एवं हरिद्वार में चल रहे कोविड सेंटरों के लिए 200 ऑक्सीजन सिलिंडर प्रदान किए गए है। इसी के साथ हरिद्वार में स्थापित कोविड केंद्र को अपग्रेट करने लिए विटिलेंटर सहित अन्य मेडिकल उपकरण प्रदान किए जा रहे है। ताकि किसी भी आपात स्थिति में कोविड के मरीजों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े।
  • माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले के मार्गदर्शन में हंस फाउंडेशन के माध्यम से उत्तराखंड के विभिन्न स्थानों पर पुलिस,गैर सरकारी संगठनों के साथ-साथ विधायक एवं ग्राम प्रधानों के माध्यम से मास्क एवं सैनिटाइज़र के साथ-साथ अन्य आवश्यक सामान प्रदान किया जा रहा है।
  • कोरोना की जंग लड़ रहे लोगों को यदि कभी भी प्लाज्मा की आवश्यकता पड़ती हैं तो,ऐसे मरीजों के लिए हंस फाउंडेशन प्लाज्मा डोनेट करने वाले लोगों के एंटीबॉडी परीक्षण के लिए प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर कई एनजीओ के साथ मिलकर कार्य कर रहा है।  
  • देश के 28 राज्यों में स्वास्थ्य-शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणीय भूमिका निभा रहा हंस फाउंडेशन भारत में आई कोरोना की पहली लहर में सेवा भी सम्मान भी के साथ ऑपरेशन नमस्ते के माध्यम से देश के दूरगामी क्षेत्रों में स्वास्थ्य एवं जन सेवाओं को पहुंचाने में प्रथम पंक्ति में खड़ा था,तो कोरोना की दूसरी लहर में ‘अहर्निशं सेवामहे’ (हम दिन-रात सेवा में रहते हैं) की परिकल्पना के साथ कोरोना संक्रमण के खिलाफ देश-प्रदेश के साथ खड़ा है।

कोरोना संक्रमण के इस संकट से हमें मिलकर लड़ना होगामाता मंगला जी

हंस फाउंडेशन की संस्थापक माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी ने देश के लोगों से अपील की हैं कि कठिन से कठिन समय में भी हमें धैर्य नहीं खोना है। हौसले और तैयारियों से हम इस मुश्किल पर जीत हासिल करेंगे। सरकार द्वारा बनाए गए नियमों का कड़ाई से पालन करें साफ़-सफ़ाई का ध्यान रखें,सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करें,अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाएं जिसके लिए पौष्टिक आहार व योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें। कोरोना को भगाना है तो मास्क जरूर लगाना है। इस बात का कड़ाई से पालन करें।

माताश्री मंगला जी ने कहा की हम कोरोना संक्रमण के इस संकट के दौर में देश के साथ खड़े है।  उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सामाजिक संगठनों पर जो भरोसा जताते हुए कहा था कि “सामाजिक संगठन दया और करुणा के अवतार हैं। उनका लोगों से गहरा जुड़ाव है और वे सामाजिक सेवा में सबसे आगे हैं। आज के समय में उनकी भूमिका बहुत महत्वपूर्ण हो जाती है जब हम कोरोना वायरस के खतरे से जूझ रहे हैं।“  हम प्रधानमंत्री जी के इन विचारों का स्वागत करते हुए। देश को विश्वास दिलाते हैं कि कोरोना संक्रमण के इस दौर में देश को जिन भी सेवाओं की आवश्यकता होगी,हंस फाउंडेशन देश के साथ खड़ा है और रहेगा।