आयुष मंत्री हरक सिंह रावत और प्रभारी मंत्री गणेश जोशी ने भगवंतपुर चिकित्सालय को प्रदान किए कंसंट्रेटर,आक्सीजन सिंलेंडर व फ्लोमीटर

0
842

कैबिनेट मंत्री डा0 हरक सिंह रावत एवं देहरादून जनपद के कोविड उपचार व्यवस्थाओं के प्रभारी मंत्री तथा सैनिक कल्याण, औद्योगिक विकास, एम0एस0एम0ई0 तथा खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री गणेश जोशी ने भगवंतपुर स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के अंतर्गत स्थानीय निवासियों को तत्काल राहत प्रदान किए जाने हेतु स्थापित किए गए 05 आक्सीजन बेड वाले कोविड उपचार केन्द्र को 02 कंसंट्रेटर 03 अक्सीजन सिलेंण्डर, 03 ऑसीजन फ्लोमीटर प्रदान किए। चंद्रोटी जिला पंचायत क्षेत्रांतर्गत भगवंतपुर स्थित इस आयुर्वेदिक चिकित्सालय में आक्सीजन बेड की सुविधा उपलब्ध हो जाने से रिखोली, भितरली, किमाड़ी, चद्रोटी, तथा पुरकुल इत्यादि ग्रामीण क्षेत्रों के कोविड के कम गंभीर मरीजों हेतु उपचार हेतु सुविधा उपलब्ध होगी।

आपको बता दें कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भगवन्तपुर में एलोपैथी के साथ-साथ आयुर्वेदिक पद्ति से उपचार प्रदान किया जाता है। अस्पताल में एलोपैथी तथा आयुष उपचार हेतु एक-एक चिकित्सक के पद स्वीकृत हैं। स्वास्थ्य केन्द्र प्रभारी डा0 आशाराम नौटियाल (एलोपैथी) तथा डॉ जगमोहन सिंह राणा (आयुष) एवं डॉ प्रतीमा यादव (आयुष विंग) द्वारा ओ0पी0डी0 संचालित की जा रही है। इसलिए कोविड उपचार हेतु पृथक से व्यवस्था की गई है। स्वास्थ्य केन्द्र प्रभारी डा0 नौटियाल ने मंत्रीगणों को अवगत कराया कि चिकित्सालय में कोविड उपचार हेतु दवाओं की कोई कमी नहीं है और अब अस्पताल में आक्सीजन भी उपलब्ध हो जाने से स्थानीय व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों को बड़ी राहत मिलेगी।

इस अवसर पर आयुष मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में 300 आयुष अस्पतालों को कम से कम 05 आक्सीजन बेड की सुविधा के साथ कोविड उपचार सुविधाएं उपलब्ध करवा रही है। ताकि वर्तमान आवश्यकताओं तथा भविष्य में भी हम किसी स्वास्थ्य इमर्जेंसी से निपट सकें। इसी क्रम में भगवंतपुर में आॅक्सीजन बेड उपलब्ध करवाए गए हैं।

जनपद प्रभारी मंत्री गणेश जोशी द्वारा आयुष मंत्री से आग्रह किया कि आयुर्वेद विभाग द्वारा बनाई गई इम्युनिटी बूस्टर आयुष किट तथा होम्योपैथिक किट भी उपलब्ध करवाएं। काबिना मंत्री द्वारा आशा की गई कि कोविड मामलों में दर्ज की जा रही गिरावट आगे भी बरकरार रहेगी। चंद्रोटी से जिला पंचायत सदस्य एवं उपाध्यक्ष जिला पंचायत द्वारा मंत्री गणों को अवगत कराया गया कि आज भितरली, रिखोली तथा किमाड़ी क्षेत्र में टेस्टिंग की गई जिसमें कुल 206 सेम्पल लिए गए। प्रसन्नता की बात यह है कि मात्र 02 व्यक्ति ही कोविड पॉजिटिव पाए गए।  

इस अवसर पर निदेशक आयुर्वेदिक चिकित्सा डा0 आर0पी0 सिंह, लक्ष्मण सिंह, प्रधान आरती जोशी, मनोनीत पार्षद सुन्दर कोठाल, अनुराग सिंह, कैप्टन जयराम सिंह, दिनेश जोशी तथा संदीप डंगवाल इत्यादि उपस्थित रहे।