‘अहर्निशं सेवामहे’ के संकल्प के साथ पौड़ी जनपद के चौबट्टाखाल विधानसभा के स्वास्थ्य केंद्रों,पुलिस थानों और ग्राम प्रधानों के माध्यम से जन सेवा के लिए गांव-गांव पहुंच रही है हंस फाउंडेशन की जीवन रक्षक कीट

0
1408

कोरोना संक्रमण के मामले अब धीरे-धीरे गांवों में भी पैर पसारने लगे है। जिसे देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ दिन पहले देश के कई जिलाधिकारियों से बात करते हुए कहा था कि ‘कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर में ग्रामीण और दुर्गम क्षेत्रों पर बहुत ध्यान देना होगा। ध्यान रखना है कि जब जिला कोरोना को हराएगा तभी देश कोरोना से जंग जीतेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि जिलों में चिकित्सा के साथ ही हर चीज की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करना भी जरूरी है और अपनी जरूरतों को तेजी से रेखांकित करके, उनका प्रबंध भी करना है। उन्होंने कहा, ‘चुनौती जरूर बड़ी है, लेकिन हमारा हौसला उससे भी बड़ा है’।

प्रधानमंत्री जी के इसी हौसले की कड़ी है हंस फाउंडेशन,जो माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी के ‘अहर्निशं सेवामहे’ के संकल्प के साथ पहाड़ को कोरोना संक्रमण से मुक्ति दिलाने के लिए अपने सेवाकों के साथ रात-दिन स्वास्थ्य संबंधि हर जरूरी समान सामुदायिक स्वस्थ्य केंद्रों,पुलिस कर्मियों,ग्राम प्रधानों और आशा कार्यकर्ताओं तक पहुंच रहा है। ताकि उत्तराखंड का हर गांव कोरोना संक्रमण से बच सके।

इस क्रम में हंस फाउंडेशन ने माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज की प्रेरणा से पौड़ी जनपद के चौबट्टाखाल विधानसभा की समस्त ग्राम पंचायतों में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रथम पंक्ति में तैनात कोरोना वॉरियर्स को इस क्षेत्र के ग्रामीणों को किसी भी आपात स्थिति में सेवा देने के लिए रक्षा कवच के तौर पर ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स,नेबोलाइजंर मशीन, ऑक्सिमीटर, डिजिटल थर्मोमीटर, पीपीई किट, इंफ्रारेड थर्मोमीटर, ऑक्सीजन मास्क,सर्जिकल मास्क,सैनिटाइजर, स्टीमर, बीपी मशीन,गाउन सहित अन्य सामग्री प्रदान की है। इसी के साथ सरकारी नियामानुसार चौबट्टाखाल विधानसभा के विभिन्न प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं सरकारी अस्पतालों इत्यादि को होम आईसोलेशन किट भी प्रदान की जा रही है।

इस बारे में पोखड़ा महोत्सव समिति के अध्यक्ष एवं पूर्व ब्लाक प्रमुख पोखड़ा सुरेंद्र सिंह रावत ने बताया कि इस कोरोना संक्रमण के दौर में माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज के आशीष से चौबट्टाखाल विधानसभा के गांव-गांव में ग्राम प्रधानों,आशा कार्यकर्ताओं,प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और पुलिस-प्रशासन को कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए हंस फाउंडेशन द्वारा प्रदान की गई स्वास्थ्य कीट उपलब्ध कराई गई है,ताकि किसी भी आपात स्थिति में जल्द से जल्द ग्रामीणों को मदद मिल सके और ग्रामीणों को इस संक्रमण से संक्रमित होने से बचाया जा सके।

श्री रावत ने बताया की इन दिनों उत्तराखंड में लगातार बारिश हो रही हैं। इसके बावजूद भी हंस फाउंडेशन के स्वयंसेवकों द्वारा सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए,चौबट्टाखाल के ग्रामीणों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए हंस फाउंडेशन की स्वास्थ्य रक्षा संबंधित कीट पहुंचायी जा रही है। जिसमें पोखड़ा,सतपुली, पाटीसैंण, नौगांवखाल, पैठाणी,द्वारीखाल, नैनीडांडा,एकेश्वर और बीरोंखाल के तमाम दूरस्थ पहाड़ी क्षेत्र शामिल है,यहां तक हंस फाउंडेशन की स्वास्थ्य संबंधिति सामग्री पहुंचाई जा चुकी है और यह सेवा का कार्य निरंतर जारी है।

आपको बता दें कि स्वस्थ गांव के साथ-साथ स्वस्थ भारत के निर्माण में भागीदारी निभाते हुए माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी ने उत्तराखंड को कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए लगभग  14 करोड़ा रुपये के स्वास्थ्य संबंधित उपकरण एवं दवाइंयां प्रदान की है। साथ ही राज्य के लोगों को भरोसा दिलाया हैं कि भविष्य में कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए राज्य को किसी भी सहोयग की आवश्यकता होगी तो हंस फाउंडेशन उनके साथ खड़ा है।