कोरोना महामारी के बीच उत्तराखंड में लोगों ने घरों से किया नए साल 2021 का स्वागत

0
817

वैश्विक महामारी कोविड-19 के संक्रमण के बीच और कोरोना वायरस के एक नए वैरिएंट के मिलने के साथ पुरी दुनिया में लोगों ने नए साल का स्वागत किया। भारत में कड़कड़ाती ठंड के साथ जैसे ही घड़ी ने रात के 12 बजाए। इसी के साथ लोगों के घरों में नए साल का अभिवादन किया। उत्तराखंड की राज्यपाल  बेबी रानी मौर्य,मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत,कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह,समाजा सेवी माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज ने प्रदेशवासियों को नव वर्ष की शुभकामनाएं दी।

देवभूमि उत्तराखंड में पिछले कई दिनों से लगातार हो रही बर्फबारी के बीच उत्तराखंड वासियों और उत्तराखंड पहुंचे हजारों पर्यटकों ने नए साल 2021 का स्वागत किया। कोरोना महामारी के बीच इस बार पूरी दुनिया के साथ-साथ उत्तराखंड में भी नए साल का स्वागत लोगों ने अपने-अपने घरों में रहकर अपने परिवार के साथ किया।

नए साल पर उत्तराखंड में शहर से लेकर गांव तक लोगों ने आतिशबाजी कर 2020 को अलविदा कहा और नए साल का स्वागत किया। प्रदेशवासियों ने भगवान बद्रीविशाल एवं बाबा केदार से दुनिया से कोरोना महामारी को जल्द से जल्द खत्म करने के लिए प्रार्थना भी की और लोगों के शुभकामना संदेश दिए।

नए साल के मौके पर उत्तराखंड की वादियों में पहुंचे हजारों पर्यटकों ने सर्द मौसम और बर्फबारी के बीच नए साल का स्वागत किया। मसूरी,नैनीताल,रानीखेत,पौड़ी, कौसानी,रामनगर,ऋषिकेश, चकराता,धनोल्टी,चोपता,औली,हरिद्वार और टिहरी जैसे पर्यटन स्थलों में इस बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचे। जिन्होंने उत्तराखंड के खूबसूरत वादियों में नए साल का स्वागत किया। हालांकि इस बार कोरोना गाइडलाइंस के चलते उत्तराखंड में पार्टियों पर प्रतिबंध था। इसके बावजूद उत्तराखंड की खूबसूरत वादियों में पर्यटकों की खासी भीड़ रही। पर्यटकों ने पहाड़ी व्यंजनों का लुत्फ उठाते हुए और लोकगीतों का भी आनंद लेते हुए नए साल 2021 का स्वागत किया। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here