मकर संक्रांति पर साधु-संत कर सकेंगे देवप्रयाग संगम पर स्नान,कुंभ मेला प्रशासन के स्वीकार किया साधु-संतों का अनुरोध

0
2815

14 जनवरी 2021 को मकर संक्रांति पर देवप्रयाग संगम पर साधु संतों के स्नान करने के अनुरोध को मेला प्रशासन ने मान लिया है। जिसके बाद साधु-संत मकर संक्रांति पर देवप्रयाग संगम पर स्नान कर पाएंगे। इस फैसले के बाद साधु संतों सहित स्थानीय धार्मिक, सामाजिक व राजनीतिक संस्थाओं ने मेला प्रशासन एवं सरकार का आभार प्रकट करते हुए खुशी जताई है।

मेला प्रशासन से अनुमति मिलने के बाद तमाम सामाजिक संस्थाओं ने संगम में संतों के आगमन पर उनके स्वागत की तैयारियां शुरू कर दी है। इस अनुमति के बाद यह भी तय हो गया हैं कि 14 जनवरी को मकर संक्रांति पर देवप्रयाग संगम पर साधु संत पहले स्नान कर सकेंगे,जबकि दूसरे स्नान के लिए संतों को बसंत पंचमी को ऋषिकेश के त्रिवेणी घाट संगम पर स्नान की अनुमति दी गई है।

आपको बता कि मकर संक्रांति स्नान को लेकर संतों ने गुरूवार को नगर पालिका अध्यक्ष कृष्णकांत कोटियाल की अध्यक्षता में देवप्रयाग में आयोजित होने वाले गंगा स्नान को लेकर स्थलीय निरीक्षण किया था। जिसके बाद साधु समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत गोपाल गिरी ने कहा कि कुंभ मेला प्रशासन द्वारा देवप्रयाग संगम में मकर संक्रांति के पर्व पर साधु संतों को पहली बार स्नान की अनुमति दी गई है। इसके लिए हम कुंभ मेला प्रशासन का कोटि-कोटि आभार व्यक्त करते है। श्री गिरी ने कहा कि 14 जनवरी की सुबह 8 बजे संगम घाट पर साधु संतों द्वारा छड़ी पूजन के साथ मां गंगा की पूजा अर्चना की जाएगी। और फिर सभी संतों द्वारा गंगा में डुबकी लगाई जाएगी।