Uttarkashi Accident:-दीपावली पर सिलक्यारा-डंडालगांव के बीच बड़ा हादसा,निर्माणाधीन टनल का हिस्सा टूटने से 40 मजदूर फंसे,रेस्क्यू जारी,पाइप के जरिए पहुंचाई जा रही है ऑक्सीजन

0
600

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में दीपावली पर दुःखद हादसा हो गया है। यहां उत्तरकाशी के सिलक्यारा-डंडालगांव के बीच निर्माणाधीन टनल के एक हिस्से के टूटने से इसमें 40 मजदूर फंसे गए है। रविवार सुबह हुए इस हादसे में काफी संख्या में मजदूरों के टनल के अंदर फंसे होने की खबर सामने आ रही है। इसके बाद से यहां पर पिछले 18 घंटों से फंसे मजदूरों को बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।


जिला अधिकारी अभिषेक रूहेला सहति सभी अधिकारी मौके पर मौजूद है। सूचना के अनुसार मजदूरों तक पानी के पाइपों के द्वारा ऑक्सीजन पहुंचाई जा रही है। इस हादसे के बाद से दीपावली की छुट्टियां रद्द कर दी गई है।
आपको बता दें कि रविवार सुबह यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर सिलक्यारा-डंडालगांव के बीच निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा अचानक टूट जाने से इसमें 40 मजदूरों की के सुरंग के अंदर फंसने की खबर आई। जिसके बाद शासन-प्रशासन मौके पर पहुंचा। टनल के अंदर फंसे मजदूरों को सुरक्षित निकालने के लिए राहत और बचाव कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। टनल में फंसे मजदूर तक पानी के लिए बिछाए गए पाइप के जरिए ऑक्सीजन की सप्लाई की जा रही है। सुरंग से मलवा हटाने और फंसे मजदूरों को निकालने के लिए एस्केप पैसेज बनाने का काम युद्ध स्तर पर जारी है।
घटना स्थल पर मौजूद अधिकारियों का कहना हैं कि टनल के अंदर फंसे मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकलना प्रशासन की पहली प्राथमिकता है। इसके लिए राहत और बचाव कार्यों को युद्ध स्तर पर चलाया जा रहा है। राहत और बचाव कार्य के लिए तमाम दूसरी एजेंसियों और तकनीकी संगठनों तथा एनएचआईडीसीएल का सहयोग लेकर के बचाव अभियान संचालित किया जा रहा है। इसी के साथ जिले में सभी अधिकारियों की छुट्टियों की रद्द कर दिया गया है।
सिलक्यारा-डंडालगांव में सुरंग में फंसे मजदूरों को जल्द से जल्द निकालने के लिए जिला प्रशासन,पुलिस के जवान,एसडीआरएफ के साथ-साथ सीमा सड़क संगठन,एनएचएआइ के अधिकारी भी मौके पर है। बताया जा रहा है कि नेशनल हाईवे एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एनएचआइडीसीएल) के पास वर्टिकल ड्रिलिंग मशीन नहीं,जिसके लिए जिला प्रशासन ने विकास नगर के लखवाडा से संपर्क किया है,बताया जा रहा हैं कि माशीन देर रात तक ड्रिलिंग मशीन घटना स्थल पर पहुंच सकती है। सुरंग में फंसे मजदूरों में अधिकांश मजदूर झारखंड,उत्तर प्रदेश,बिहार,उड़ीसा,असम,हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के बताए जा रहे है। हादसे की सूचना मिलने के बाद इन मजदूरों को परिजन लगातार अपनों की जानकारी के लिए जिला प्रशासन के साथ संपर्क में बने हुए है।
मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने ही राहत कार्यों की जानकारी

उत्तरकाशी के सिलक्यारा-डंडालगांव में हुए इस हादसे पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी लगातार नज़र बनाए हुए है। मुख्यमंत्री धामी स्वयं राहत कार्यों की जानकारी ले रहे हैं। उन्होंने जिलधिकारी सहित तमाम आपदा प्रबंधन की टीम को रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटाने के निर्देश दिये है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ईश्वर से प्रार्थना की है कि सभी मजदूर जल्द सुरक्षित निकाले।
सिलक्यारा-डंडालगांव के हादसे के संबंध में रेस्क्यू की अपडेट एवं सहायता के लिये उत्तरकाशी पुलिस ने हेल्पलाइन +917455991223 भी जारी किया है। जिलाधिकारी अभिषेक रुहेला,पुलिस अधीक्षक अर्पण यदुवंशी,मुख्य विकास अधिकारी गौरव कुमार,अपर जिलाधिकारी तीर्थपाल सिंह,उप जिलाधिकारी डुंडा बृजेश कुमार तिवारी,उप जिलधिकारी बड़कोट मुकेश चंद रमोला घटना स्थल पर मौजूद हैं।