हाईकोर्ट के आदेश के बाद रुड़की में पंचशील काली मंदिर के पास यूपी सिंचाई विभाग की कीमती भूमि कब्जा मुक्त

0
2191

रुड़की पंचशील काली मंदिर में वर्षों से चले आ रहे अवैध कब्जे को धार्मिक संघर्ष समिति की याचिका पर हाईकोर्ट के आदेश पर यूपी सिंचाई विभाग के अधिकारियों और तहसील प्रशासन की टीम ने कब्जा मुक्त करा दिया है। इस दौरान भारी पुलिस फोर्स के साथ अधिकारी जेसीबी लेकर पहुंचे थे। जिसके बाद जेसीबी से मंदिर के पास बने तमाम टेंट हाउस को धराशाई कर दिया गया।

इस अवैध कब्जे को हटाए जाते समय यहां रह रहे परिवारों और पुलिस के बीच काफी नोक-झोंक भी हुई। इस मौके पर उत्तरी खंड गंग नहर रुड़की के डिप्टी रेवेन्यू ऑफिसर मुनेश शर्मा ने बताया कि पिछले लंबे समय से कुछ लोगों ने यूपी सिंचाई विभाग की कीमती भूमि पर अवैध कब्जा किया हुआ था। जिसमें बड़े पैमाने पर टेंट हाउस का काम चल रहा था। कई बार कब्जा धारकों को सूचित भी  किया गया। इतना ही नहीं नोटिस भी जारी किए गए। लेकिन किसी ने भी मामले को गंभीरता से नहीं लिया। जिसके बाद गुरूवार को हाईकोर्ट के आदेश के बाद तहसील प्रशासन और सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने भारी पुलिस फोर्स के साथ पंचशील काली मंदिर के अवैध कब्जे को कब्जा मुक्त करा दिया।

इसी पूरी कार्रवाई के दौरान जेसीबी ने लोहे के लंबे-लंबे पाइप और टेंट के सामान को मौके से हटा दिया। अवैध कब्जे को हटवाने को लेकर कब्ज़ा धारकों में बेहद गुस्सा भी देखने को मिला जिसके बाद महिलाओं और पुलिस के बीच तीखी नोक-झोंक भी हुई। इस दौरान मौके पर काफी अफरातफरी का माहौल भी रहा।

आपको बता दें कि पिछले कई वर्षों से पंचशील काली मंदिर के पास एक व्यक्ति ने टेंट के कारोबार के नाम पर यूपी सिंचाई विभाग की भूमि पर पिछले लंबे समय से कब्जा किया हुआ था। इस बारे में विभागीय अधिकारियों ने कई बार कब्जा धारक को नोटिस देकर सूचना भी दी,लेकिन उसने जगह खाली नहीं कि जिसके बाद मामला हाईकोर्ट में पहुंचा। हाईकोर्ट ने यूपी सिंचाई विभाग की भूमि को कब्जा मुक्त करने के निर्देश दिए जिसके बाद तहसील प्रशासन यूपी सिंचाई विभाग और भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गुरूवार को जेसीबी के द्वारा कब्जे को हटा दिया गया। इस मौके पर सिंचाई विभाग के जे ई बीडी धीमान,संजय सचदेवा के अलावा तहसील प्रशासन के तमाम अधिकारी मौजूद रहे।