उत्तराखंड के पहाड़ी परिवेश पर बनी फ़िल्म ‘फायर इन द माउंटेन’ कोअंतरराष्ट्रीय पुरुस्कार

0
1581

कोरोना की दूसरी लहर में मन को दुखाती खबरों के बीच उत्तराखंड को सम्मान देने वाली एक अच्छी खबर आई है। उत्तराखंड के पहाड़ी परिवेश पर बनी फ़िल्म  ‘फायर इन द माउंटेन’  को 19वें भारतीय फिल्म फेस्टिवल लॉस एंजिल्स में बेस्ट फीचर फिल्म का ऑडियंस अवार्ड मिला है। इस फिल्म में नैनीताल व आसपास के कई अभिनेताओं ने काम किया है। सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म होने के अलावा फ़िल्म के मुख्य किरदार में चंदन बिष्ट को बेस्ट एक्टर का खिताब मिला है। यही पुरुस्कार उन्हें स्पेन में आयोजित फ़िल्म समारोह में मिल चुके हैं।

‘फायर इन द माउंटेन’ एक्टर श्री बिष्ट चौखुटिया के रहने वाले हैं और वह पूरे मार्च महीने में अपनी पत्नी रचना बिष्ट के साथ रामनगर में रहकर युवाओं को रंगमंच का हुनर सिखा रहे थे। उनके निर्देशन में रामनगर के बच्चों ने खड़िया का घेरा नाटक का मंचन किया था। उनको यह सम्मान मिलना उत्तराखंड के लिए गौरव की बात है। वह एनएसडी दिल्ली के छात्र रहे हैं और रंगमंच के अलावा मिशन कश्मीर, रघु रोमियो, अरमान, मिथ्या, हनीमून ट्रेवल्स आदि फिल्मों में अभिनय कर चुके हैं।

फायर इन द माउंटेन’ फिल्म के कलाकार चंदन बिष्ट के साथ पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता गणेश रावत

आपको बता दें कि ‘फायर इन द माउंटेन’ का लेखन और निर्देशन अजीत पाल सिंह किया है। फ़िल्म के निर्माता मुंबई निवासी मौली सिंह हैं। फिल्म की शूटिंग दो साल पहले वर्ष 2019 में पिथौरागढ़ मुनस्यारी व अल्मोड़ा आदि स्थानों पर की गई है। इसमें पहाड़ के दृश्यों को फिल्माते हुए सड़क की समस्या के विभिन्न पहलुओं को दर्शाया गया है। करीब 82 मिनट की शार्ट फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे सड़क नहीं होने पर लोग समय पर इलाज को नहीं पहुंच पाते हैं। इसके अतिरिक्त बच्चों को स्कूल जाने में विभिन्न परेशानियों का सामना करना पड़ता है। यह फ़िल्म अक्टूबर में भारत में रिलीज की जाएगी। इससे पहले दुनिया के विभिन्न देशों के फ़िल्म समारोहों में इसका प्रदर्शन होगा। उम्मीद की जा रही हैं की यह फ़िल्म ऑस्कर में भी स्थान पाए।