चमोली जिले के बामणी गांव के युवा ने,बद्रीधाम से कन्याकुमारी की 4033कि.मी की दूरी 46 दिन में की पूरी,देश दे रहा है बधाई

0
1836
भूवन चन्द्र उनियाल,
धर्माधिकारी बदरीनाथ धाम

सोमेश ने माणा गांव, श्री बदरीनाथ धाम से कन्याकुमारी तक की यात्रा निश्चित समय में आज पूरी कर ली है । श्री बदरीनाथ से शुरू हुआ यह सूत्र आज जिसमें पूरा देश बंध गया है। यह सब आप लोगों की मदद से हो पाया है आप सभी लोगों का हार्दिक धन्यवाद।

मत्त: परतरं नान्यत्किञ्चिदस्ति धनञ्जय ।।

मयि सर्वमिदं प्रोतं सूत्रे मणिगणा इव ।।

भगवान गीता में कहते हैं कि मुझ से भिन्न दूसरा कोई भी परम कारण नहीं है, यह सम्पूर्ण जगत सूत्र में सूत्र के मणियों के सदृश मुझमें गुँथा हुआ है। भगवान के यह वाक्य जिसका प्रमाण आज सोमेश के कन्याकुमारी पहुंचने पर मैं अनुभव कर रहा हूं क्योंकि एक बदरीनाथ जी ही हैं जिनके कारण हम सब लोग आपस में जुड़े हुए हैं,और इस पूर्ण यात्रा में सबसे अहम भूमिका आप लोगों के सहायता की थी जो सभी जगह हुई हैं।

सोमेश का माणा से कन्याकुमारी तक का अभियान सफल हुआ है यह सफर काफी लम्बा था। लेकिन बदरीनाथ जी के चरणों से सोमेश को पूर्ण ऊर्जा प्राप्त थी। मुझे आशा है कि सोमेश के इस दृढ़ अभियान से सभी लोगों को ग्रीन हिमालय, क्लीन हिमालय और फिट इंडिया का संदेश मिला है।

आज मुझे बड़ी प्रसन्नता हो रही है कि मेरा सोशल मीडिया पर आप सभी लोगों से जुड़ना सार्थक हो गया है। आपको यह भी बता दें कि माणा गांव श्री बदरीनाथ धाम से  कन्याकुमारी की दूरी 4033 किलोमीटर है। जिसे सोमेश ने 46 दिन में पूरा किया

फिटनेस व पर्यावरण संरक्षण के प्रति लोगों को जागरूक करने की मंशा से साइकिल से रवाना हुआ था सोमेश पंवार

1 नवंबर 2020 को बामणी गांव का सोमेश पंवार बदरीनाथ धाम के मुख्य पुजारी रावल, धर्माधिकारी भूवन चन्द्र उनियाल और अपने परिजनों का आशीर्वाद लेकर साइकिल से देश के अंतिम छोर कन्याकुमारी के लिए निकला था। सोमेश पंवार की यह यात्रा 10 राज्यों से होते हुए। बदरीनाथ से 4035 किलोमीटर की दूरी पर स्थित कन्याकुमारी तक मात्र 46 दिनों में पूरी हुई। जिसेक बाद सोमेश को उत्तराखंड सहित पूरे देश से बधाई मिल रही है।

फिटनेश एवं पर्यावरण संरक्षण के प्रति लोगों को जागरूक करने की सोच के साथ सोमेश पंवार ने अपने गांव बामणी से कन्याकुमारी तक की यह यात्रा साइकिल से पूरी की। इस दौरान उन्होंने अपने हर पड़ाव में लोगों को पर्यावरण संरक्षण के लिए आग्रह किया। लोगों को अपने आसपास स्वच्छ रखने के लिए प्रेरित भी किया। साथ ही स्वस्थ जीवन के लिए साइकिलिंग करने के लिए भी लोगों को संदेश दिया। उन्होंने लोगों को खास तौर पर युवाओं को पर्यावरण के प्रति तमाम लोगों को जागरूक करने का आवाहन भी किया।

सोमेश पंवार की इस यात्रा की खास बात यह भी रही कि इस यात्रा में बदरीनाथ जी के चरणों से सोमेश को पूर्ण ऊर्जा प्राप्त थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here