टिहरी गढ़वाल के भिलंगना में घुत्तू-कंडारा गांव मोटर मार्ग की हालत खस्ता,ग्रामीणों की सरकार से मांग तत्काल हो सड़क निर्माण

0
1257

टिहरी गढ़वाल के विकासखंड भिलंगना स्थित घुत्तू-कंडारा गांव मोटर मार्ग जो प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनी थी। इस मोटर मार्ग की हालत दिन प्रति दिन खस्ता होती जा रही है। जिससे इस मोटर मार्ग पर पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। जिसके चलते ग्रामीणों में आक्रोश है। ग्रामीणों ने सरकार से मांग की हैं कि इस मार्ग को तत्वाल ठीक किया जाए।

घुत्तू-कंडारा गांव मोटर मार्ग का निर्माण 2017 में हुआ था। लेकिन चार साल की छोटी अवधि में ही यह मोटर मार्ग आज जगह-जगह से क्षतिग्रस्त हो चुका है। सड़क स्थिति आज यह हो चुकी हैं कि इस पर चलते हुए यह पता नहीं चलता गड्ढे में सड़क है, या फिर सड़क में गड्ढे। इन दिनों उत्तराखंड में लगातार बारिश होने से इस सड़क की स्थिति और खराब हो चुकी है। जिसके बाद ग्रामीणों में रोष व्यापत है। ग्रामीणों का कहना हैं कि इस मार्ग को जल्द से जल्द ठीक नहीं किया गया तो स्थानीय जन प्रतिनिधि,समाजसेवी और आम जन मिलकर इस सड़क पर बने गड्ढों में वृक्षारोपण कर सरकार के खिलाफ विरोध दर्ज करेंगे।

घुत्तू-कंडारा गांव मोटर मार्ग को दूरूस्त करने के लिए इस क्षेत्र के ग्रामीणों द्वारा कई बार पी.एम.जी.एस.वाई के अधिकारियों को सूचना दी जा चुकी है। इसी के साथ जेई राजेंद्र सिंह को भी कई बार मौके पर बुलाकर इस मोटर मार्ग को दिखाया गया। इसके बावजूद भी आज तक इस मोटर मार्ग को ठीक करने की दिशा में सरकार की तरफ से कोई पहल नहीं की गई है। हर को ग्रामीणों को आश्वासन देकर चला जाता है। लेकिन इस मोटर मार्ग के सुधार के लिए कोई गंभीरता से काम नहीं ले रहा है। जिसके खामियाजा इस क्षेत्र के कई गांव के लोगों भुगतना पड़ रहा है।  

ऐतिहासिक पंवाली कांठा यात्रा को सुगम बनाने और कई गांवों को जोड़ने वाले इस मोटर मार्ग के बारे में ग्रामीण बताते हैं कि इस मार्ग के रखरखाव की जिम्मेदारी पांच साल तक सड़क निर्माण करने वाले ठेकेदारों की थी। लेकिन इन ठेकेदारों की मिली भगत के चलते पांच साल में ही इस सड़क की यह हालत हो गई हैं कि इस मार्ग पर आप पैदल भी नहीं चल सकते है। लेकिन अब इस मार्ग का जल्द से जल्द निर्माण नहीं किया गया तो ग्रामीण बड़े आंदोलन की रणनीति बनाने को बाध्य होंगे।